पोस्ट

मार्च 24, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नव संवत्सर 2077 : 25 मार्च 2020से

चित्र
 नव संवत्सर 2077 : 25 मार्च २०२० से शुरू होगा वर्ष का शुभारंभ चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा तिथि से होता है क्योंकि इस दिन ब्रह्मा जी ने सृष्टि रचना शुरू की थी. नव वर्ष विक्रम संवत सर 2077 का शुभारंभ 25 मार्च 2020 चैत्र नवरात्र के प्रथम से होगी. वर्ष के पहले दिन का सूर्योदय 6.27 बजे होगा।  इस दिन बुधवार होने से ज्योतिषियों का मत है कि नया वर्ष देश में सुख-समृद्धि और धन-धान्य से भरपूर रहेगा। ज्योतिष के जानकार रघुनाथ प्रसाद शास्त्री ने बताया कि किसी भी नए संवत्सर में राजा का चयन चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि के वार के अनुसार होता है,अर्थात इस दिन जो वार होता है उस वार के स्वामी को संवत का राजा माना जाता है। नए वर्ष का नाम प्रमादी है। रघुनाथ शास्त्री के अनुसार नए वर्ष के पहले दिन वेद में दिए गए संवत्सर सुक्त का पाठ करना चाहिए। ध्वज और कलश पूजन करना चाहिए। रघुनाथ शास्त्री ने बताया नए वर्ष की शुरुआत बुधवार से हो रही है, जो शुभता का प्रतीक हैं। बुध  राजा ,चंद्र मंत्री रहेंगे। बुध के राज्य में जल, धन, धान्य, में समृद्धि आएगी। और विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत मह