मंगलवार, 30 अगस्त 2016

मुलायम मायावती !!! शैम शैम !!


मुलायम मायावती !!! शैम शैम !!

मुलायम सिंह कह रहे है कि ओर कारसेवकों को मारता !
मायावति अपनी करारी हार देख कह रहीं हैं मोदी चुनाव के लिये पाकिस्तान से युद्ध कर सकते है।
याद रखिये माया मुलायम आप जैसे लोगों के कारण ही पाकिस्तान की हिम्मत इतनी बढ़ जाती है। 
देश में आतंकी दंश के लिये आपकी राष्ट्रघाती वोट राजनीति ही जिम्मेवार हे।





अयोध्या कांड पर बोले मुलायम- 

16 की जगह 30 कारसेवक मारे जाते तो भी हम पीछे नहीं हटते 

अनूप श्रीवास्तव [Edited By: अमित दुबे] @anoupsrivastava लखनऊ, 27 अगस्त 2016 |

लखनऊ में मुलायम सिंह यादव ने शनिवार को अयोध्‍या गोली कांड पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि उस दौरान अगर 16 के बजाए 30 कारसेवकों की भी जान जाती तब भी वो उससे पीछे न हटते. मुलायम ने कहा कि उनको देश की एकता के लिए अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवानी पड़ी थी. उन्होंने कहा कि अगर उस समय गोली नहीं चलती तो मुसलमानों का देश से विश्वास उठ जाता. इसके साथ ही मुलायम ने कहा कि उस वक्त इस मुद्दे पर सदन में भी उनकी जमकर आलोचना हुई थी, और उन्हें मानवता का हत्यारा कहा जाता था.

देश में लोग भूख से कर रहे हैं आत्महत्या
मुलायम ने उस काण्ड पर अफसोस जताते हुए कहा कि उनको इस गोली कांड पर बहुत अफसोस है और हमेशा रहेगा. मुलायम सिंह यादव ने खुद पर लिखी गई पुस्‍तक का विमोचन करने के लिए एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे. मुलायम सिंह यादव ने कहा कि देश के सामने बहुत गंभीर समस्या है, यहां पर गरीबी अमीरी की खाई है. उन्होंने कहा कि आजादी के समय गरीबी-अमीरी की खाई थी लेकिन आज उससे ज्यादा है. आज ये हालत है कि लोग भूख से मर रहे हैं और भूख के कारण लोग आत्महत्या कर रहे हैं. गरीबी अमीरी के कारण अमीर को सम्मान और गरीब को अपमान मिल रहा है.

यूपी में विकास पर भी जाहिर की चिंता 
मुलायम ने यूपी पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि हिन्दुस्तान में पानी, सड़क, पत्थर और लकड़ी कहीं भी ज्यादा है तो वह सबसे ज्यादा यूपी में है. मुलायम ने कहा कि हमारे पास सब कुछ होने के बावजूद भी हम पीछे हैं. इसके लिए हमें सोचना पड़ेगा. हम इसलिये पीछे हैं क्योकिं हमारे यहां लोगों की इच्छाशक्ति नहीं है. मुलायम सिंह यादव के जीवन पर आधारित पुस्तक 'बढ़ते गए साहसिक कदम' का लोकार्पण करने के लिए मुलायम सिंह यादव लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में शिरकत करने पहुंचे, यह पुस्तक ललितकान्त पांडेय ने लिखी है.

विपक्ष का मुलायम पर हमला 
बीजेपी नेता मनोज मिश्र ने कहा कि मुलायम ने जो कदम उस समय उठाए थे वो बेहद निंदनीय थी, लेकिन आज फिर उसे वो जीवित कर विधानसभा चुनाव में फायदा उठाना चाहते हैं. मुलायम में हमेशा से यूपी में तुष्टीकरण की राजनीति करते आए हैं. लोकसभा चुनाव के दौरान भी मुजफ्फरनगर के दंगे को तूल देने का काम किया, लेकिन अब यूपी की जनता इनकी चाल समझ गई है. वहीं कांग्रेस नेता अशोक सिंह ने कहा कि अयोध्या मामला अदालत में है और इस पर बयानबाजी गलत है, उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव को यूपी में सियासी जमीन खिसकने का आभाष हो गया है, इसलिए वो फिर से हिंदू-मुस्लिम मुद्दे को उछाल रहे हैं. जबकि जेडीयू नेता केसी त्यागी ने कहा कि मुलायम ने उस समय सही कदम उठाया था, लेकिन अब जो यूपी में हो रहा है वो बेहद खराब है. मुजफ्फरनगर और दादरी मुद्दे पर जिस तरह यूपी सरकार का रवैया रहा उससे अल्पसंख्यकों में असुरक्षा की भावना पैदा हुई.

-------------------

पाक से युद्ध करवा सकते हैं पीएम मोदी: मायावती

on Aug. 28, 2016,

आजमगढ़ (28 अगस्त):यूपी में 2017 विधानसभा चुनावों की तैयारों में लगी बसपा सुप्रीमो मायावती बीजेपी और राज्य की एसपी सरकार पर जमकर बरसीं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पाकिस्तान से युद्ध करवाने का भी आरोप लगाया।

मायावती ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पक्के मकान का वादा किया था, लेकिन मैं समझती हूं कि एक भी व्यक्ति को पक्का मकान नहीं मिला। दो साल तक उन्हें गोरखपुर में एम्स बनाने का ख्याल नहीं आया। दो साल से खाद बनाने का कारखाना बंद था। उत्तर प्रदेश की जनता ने इन्हें लोकसभा चुनाव में काफी सीटें जिताई लेकिन 10 फीसदी वादे भी पूरे नहीं किए गए।'

पाकिस्तान से युद्ध करा सकते हैं मोदी...
- बीजेपी प्रदेश में सत्ता से बहुत दूर है, इसलिए दूसरे मुद्दों की ओर बढ़ गई है।

- हाल ही में कश्मीर में तिरंगा यात्रा निकाली गई। प्रधानमंत्री लाल किले से पाकिस्तान को ललकार रहे हैं।

- मैं जनता को सतर्क करना चाहती हूं कि ऐसी चर्चा चल रही है कि लोगों का ध्यान बांटने के लिए मोदी कश्मीर, आतंकवाद को मुद्दा बना पाकिस्तान से युद्ध करवा सकते हैं।



प्रखर राष्ट्रवाद को प्रगट किया नरेन्द्र मोदी प्रेरित तिरंगा यात्रा नें




  भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ की उस पाठशाला के वि़द्यार्थि रहे हैं जहां सबसे पहले राष्ट्र ही सिखाया जाता है। भारतमाता के सपूत मोदी का यह सौभाग्य रहा है कि वे भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष मुरलीमनोहर जोशी के नेतृत्व में श्रीनगर में तिरंगा फहरानें की एकता यात्रा के प्रबंधक भी रहे और श्रीनगर के लाल चौक पर जोशी जी के साथ उन्होने भी तिरंगा  फहराया था । 
हमारे देश में लगातार मीडिया का एक वर्ग राष्ट्रविरोधी तत्वों का साथ दे रहा है। देश के कुछ जिम्मेवार दल भी वोट बैंक की राजनीति में राष्ट्रविरोधी तत्वों के पालनहार बन जाते हैं। विदेशी हितों के तहत देश विरोधी ताकतों को मजबूत करने की एक मुहिम लगातार प्रभाव डालने वाले वर्ग से हो रही थी। अनचाही आराजकतायें खडी की जा रहीं हैं।
लोकतंत्र में हर सवाल का जबाव आम जनमत होता है। संभवतः प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ध्यान में ये ही उच्च विचार रहे होंगें। उन्होने आजादी के 70 वे साल के अवसर पर देश की आजादी दिलानें में शहीद हुये और संर्घर्ष करने वाले तमाम वीरों को स्मरण करने और उनके प्रतिमा स्थलों पर श्र्द्धा सुमन चढ़ानें का संकल्प लिया ओर पूरे देश में तिरंगायात्राओं को करने का आव्हान किया । 
पूरे देश में तिरंगा हाथ में लिये नौजवान लगातार आठ दस दिनों तक स्वतंत्रा के संघर्षों को न केवल याद करता रहा बल्कि उसने स्वतंत्रा को अक्क्षुण्य बनाये रखनें के संकल्प भी लिये। देश को तोडने वाली , देश में आराजकता फैलानें वाली ताकतों को यह सबसे माकूल जबाव हो सकता था और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसके लिये धन्यवाद के पात्र हैं कि उन्होने वो कर दिखाया जिसकी कल्पना भी राष्ट्र विरोधी नहीं कर सके थे। 









प्रखर राष्ट्रवाद को प्रगट किया नरेन्द्र  मोदी प्रेरित तिरंगा यात्रा नें 


  • देशप्रेम और राष्ट्रवाद को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में तिरंगा यात्रा निकालने का ऐलान किया है. स्वतंत्रता दिवस पर शुरू होने वाली यह यात्रा हैदराबाद में लिबरेशन डे के मौके पर संपन्न होगी.
  • पीएम मोदी ने इसके लिए पार्टी नेताओं को विस्तार से बताया. निर्देश कुछ इस तरह हैं :-
  • सांसदों और विधायकों को तिरंगा लेकर दोपहिया वाहनों पर निकलना है.
  • तिरंगा कम से कम 8 फीट ऊंचा होना चाहिए, ताकि इससे लोगों के बीच देशप्रेम और राष्ट्रवाद की भावना का विकास हो सके.
  • जिन जगहों पर बीजेपी के सांसद या विधायक नहीं हैं, वहां बीजेपी के स्थानीय पदाधिकारी यात्रा का नेतृत्व करेंगे.
  • मोदी के मुताबिक, आजादी की 70वीं सालगिरह पर यात्रा के साथ बड़े पैमाने पर जश्न मनाया जाए.
  • देश के गुमनाम साहसी लोगों की आजादी की गाथाओं को सामने लाकर उन्हें लोगों तक पहुंचाए.
  • वेंकैया नायडू के नेतृत्व में एक कमेटी का गठन किया गया है, जो यात्रा का ब्लू प्रिंट बनाएगी.
  • पहले भी निकली हैं इस तरह की यात्राएं
  • 1991 में बीजेपी अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी ने कन्याकुमारी से एक यात्रा निकाली थी, जो श्रीनगर के लालचौक पर तिरंगा फहराकर खत्म की गई थी. मोदी उस समय इस यात्रा के प्रबंधकों में से एक थे.
  • 2011 में अनुराग ठाकुर ने भी युवा मोर्चा के नेतृत्व में एक यात्रा निकाली थी, लेकिन उसे श्रीनगर में प्रवेश नहीं करने दिया था.