पोस्ट

अगस्त 30, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मुलायम मायावती !!! शैम शैम !!

इमेज
मुलायम मायावती !!! शैम शैम !! मुलायम सिंह कह रहे है कि ओर कारसेवकों को मारता ! मायावति अपनी करारी हार देख कह रहीं हैं मोदी चुनाव के लिये पाकिस्तान से युद्ध कर सकते है। याद रखिये माया मुलायम आप जैसे लोगों के कारण ही पाकिस्तान की हिम्मत इतनी बढ़ जाती है।  देश में आतंकी दंश के लिये आपकी राष्ट्रघाती वोट राजनीति ही जिम्मेवार हे। अयोध्या कांड पर बोले मुलायम-  16 की जगह 30 कारसेवक मारे जाते तो भी हम पीछे नहीं हटते  अनूप श्रीवास्तव [Edited By: अमित दुबे] @anoupsrivastava लखनऊ, 27 अगस्त 2016 | लखनऊ में मुलायम सिंह यादव ने शनिवार को अयोध्‍या गोली कांड पर बड़ा बयान देते हुए कहा कि उस दौरान अगर 16 के बजाए 30 कारसेवकों की भी जान जाती तब भी वो उससे पीछे न हटते. मुलायम ने कहा कि उनको देश की एकता के लिए अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवानी पड़ी थी. उन्होंने कहा कि अगर उस समय गोली नहीं चलती तो मुसलमानों का देश से विश्वास उठ जाता. इसके साथ ही मुलायम ने कहा कि उस वक्त इस मुद्दे पर सदन में भी उनकी जमकर आलोचना हुई थी, और उन्हें मानवता का हत्यारा कहा जाता था. देश में लोग भूख से

प्रखर राष्ट्रवाद को प्रगट किया नरेन्द्र मोदी प्रेरित तिरंगा यात्रा नें

इमेज
  भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ की उस पाठशाला के वि़द्यार्थि रहे हैं जहां सबसे पहले राष्ट्र ही सिखाया जाता है। भारतमाता के सपूत मोदी का यह सौभाग्य रहा है कि वे भाजपा के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष मुरलीमनोहर जोशी के नेतृत्व में श्रीनगर में तिरंगा फहरानें की एकता यात्रा के प्रबंधक भी रहे और श्रीनगर के लाल चौक पर जोशी जी के साथ उन्होने भी तिरंगा  फहराया था ।  हमारे देश में लगातार मीडिया का एक वर्ग राष्ट्रविरोधी तत्वों का साथ दे रहा है। देश के कुछ जिम्मेवार दल भी वोट बैंक की राजनीति में राष्ट्रविरोधी तत्वों के पालनहार बन जाते हैं। विदेशी हितों के तहत देश विरोधी ताकतों को मजबूत करने की एक मुहिम लगातार प्रभाव डालने वाले वर्ग से हो रही थी। अनचाही आराजकतायें खडी की जा रहीं हैं। लोकतंत्र में हर सवाल का जबाव आम जनमत होता है। संभवतः प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ध्यान में ये ही उच्च विचार रहे होंगें। उन्होने आजादी के 70 वे साल के अवसर पर देश की आजादी दिलानें में शहीद हुये और संर्घर्ष करने वाले तमाम वीरों को स्मरण करने और उनके प्रतिमा स्थलों पर श्र्द्धा सुमन चढ़ान