पोस्ट

फ़रवरी 15, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

शशिकला का राजनैतिक षड़यंत्र फ़िलहाल फैल

इमेज
शशिकला का राजनैतिक षड़यंत्र फ़िलहाल फैल  शशीकला के षड़यंत्रों की जांच होनी चाहिये। शशीकला ने मूलतः जयललिता के घर में शरण ली थी और वहां के कुछ कार्यों में हिस्सा बंटाती थी। वह जयललिता के घर की मालकिन किस तरह बन गई ? चिकित्सालय में परिवार से जुड़े लोगों को क्यों आनें नहीं दिया गया ? अस्पताल का व्यवहार भी अपराधयुक्त है। वह किसी नाते रिस्तेदार को कैसे रोक सकता है। चिकित्सालय ने चिकित्सा सम्बंधी सही तथ्यों को क्यों झुपाये रखा । सभी तथ्य बहुत ही अधिक सक्षम संस्था के द्वारा जांच के योग्य है। सबसे महत्वपूर्ण बात कि जब जयललिता को धीमें जहर से मारे जानें की बात उजागर हो गई थी तब भी उसके अपनों को दूर क्यों रखा गया । बहुत गहरा षड़यंत्र रहा है। जांच सर्वोच्च न्यायालय की देखरेख में ही संभव है। शशीकला के षड़यंत्रों की जांच होनी चाहिये।   भवदीय अरविन्द सिसोदिया, कोटा  शशिकला का राजनैतिक भविष्य शुरू होने से पहले ही खत्म,  पढ़ें कब क्या हुआ Amitabh Kumar |  15 Feb 2017 नयी दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने आय से अधिक संपत्ति मामले में अन्नाद्रमुक महासचिव शशिकला को दोषी करार देते हुए निच