पोस्ट

अक्तूबर 6, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आतंकवादी पाकिस्तान को अमरीकी मदद गलत

इमेज
   असली सच पाक का यही है.... - अरविन्द सीसोदिया      जर्मन पत्रिका डेर स्पीजेल को दिए हालिया साक्षात्कार  में ; पाकिस्तान के पूर्व सैनिक तानाशाह और राष्ट्रपती परवेज मुशर्रफ ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तान ने भारत के जम्मू और कश्मीर  राज्य में अलगाववादी घटनाओं को अंजाम देने के लिए ; आतंकवादी और उग्रवादी  प्रशिक्षित  किये थे | इसका मतलब  यह है कि भारत के विरुद्ध लड़ाके तैयार करने का काम पाकिस्तान में होता है और भारत के इस आरोप की यह स्वीकारोक्ती  है ! एक राष्ट्रपती स्तर के व्यक्ती के द्वारा यह स्वीकार करना और भी अधिक महत्व पूर्ण है जो सैनीक प्रमुख भी रहा है !  पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने उनके बयान का खण्डन किया है, कि पूर्व राष्ट्रपति का  बयान  निराधार है। यह तो एक कूटनीतिक खण्डन है जबकि सच भी सभी जानते हैं !         यह कोई नई बात नहीं है, इस बात को पाकिस्तान को समझाने  की भी नहीं है , वह क्या है वह अच्छी तरह से जानता है ! यह बात तो अमरीका और उसके मित्र राष्ट्रों को समझाने की है , जो पाकिस्तान को हथियार बेंचते हैं ..! यह जानते हुए भी की इनका इस्तेमाल भारत के खिलाफ होगा ...! यही ह