पोस्ट

फ़रवरी 6, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

वर्षों बाद भारत माँ को खुलकर हँसते देखा

चित्र
- प्रिया भाटिया =========== "मोदी की विदेश यात्राओं पर सोशल मीड़िया में काफी जोक्स बनाये जा रहे है.. लेकिन कुछ तथ्य - 1) मोदी 365 दिनों में से 53 दिन विदेश यात्राओं पर रहे है.. मौजूदा चीन यात्रा को पकड़ के..और कुल 17 देशों का दौरा किया है. दूसरी तरफ डॉ मनमोहन सिंग (UPA -2, पहिला साल), 365 दिनों में से 47 दिन विदेश यात्रा पर रहे है. और सिर्फ 12 देशों का ही दौरा किया है.. 2) दोनों ने लगभग समान दिन बिताये है विदेश में.. पर मोदी ने ज्यादा देशों का दौरा किया है, मनमोहन से तुलना करने पर.. 3) और साफ़ फर्क ये है की, मोदी के दौरे Official State Visits रहे है, जबकी मनमोहन सिंग के दौरे Summit-Oriented रहे है जैसे की, यु.एन., ब्रिक्स, सार्क, NAM, ASEAN, वगैरा. 4) मोदी ने एक साल में कुल 57 करार किये है 17 देशो से.. जबकि मनमोहन सरकार 22 करार ही कर पायी, 12 देशों से.. 5) मोदी ने एक साल में 40% ज्यादा FDI भारत में लाया है.. जबकि मनमोहन सरकार सिर्फ 18% ज्यादा.. 6) मोदी सरकार में विदेशी मुद्रा 18% बढ़ी है जबकि मनमोहन सरकार में सिर्फ 5.5%.. "और मजे की बात ये है