पोस्ट

मार्च 4, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

इतना गुमराह मत कीजिए, कन्हैया की जमानत तमाम राष्ट्रहित शर्तों से बंधी है

इमेज
इतना खुश मत होइए,कन्हैया की जमानत  तमाम राष्ट्रहित शर्तों से बंधी है ! Kanhaiya के Bail आर्डर पर जज साहिबां ने दिया देश भक्ति का संदेश http://www.indiatrendingnow.com New Delhi, Mar 03 : जो लोग JNU छात्रसंघ के अध्यक्ष Kanhaiya की रिहाई पर खुशी मना रहे हैं उनके लिए एक बार समझना बहुत जरुरी है कि Kanhaiya को जमानत तो मिली है लेकिन, उसकी आजादी तमाम शर्तों से बंधी हुई है। इतना ही नहीं, High Court की जज साहिबां प्रतिभा रानी ने Kanhaiya के Bail आर्डर में कई महत्वपूर्ण टिप्पणियां भी की हैं। जज साहिबां ने अपनी टिप्पणियों के जरिए ना सिर्फ Kanhaiya बल्कि JNU के तमाम लोगों को देशभक्ति का पाठ पढ़ाने की कोशिश की है। दिल्‍ली High Court की जस्टिस प्रतिभा रानी ने Kanhaiya के Bail आर्डर की शुरुआत उपकार फिल्‍म के एक गाने की चंद लाइनों से की है। जस्टिस प्रतिभा रानी लिखती हैं – “रंग हरा हरि सिंह नलवे से, रंग लाल है लाल बहादुर से, रंग अमन का वीर जवाहर से, मेरे देश की धरती सोना उगले, उगले हीरे मोती, मेरे देश की धरती… ये राष्ट्रभक्ति से भरा गीत संकेत देता है कि हमारी मातृभूमि के प्रति प्यार क