पोस्ट

सितंबर 2, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सभी संगठन राष्ट्र की सर्वांगीण उन्नति के लिये समर्पित – परम पूज्य डॉ. मोहन भागवत जी

इमेज
                    सभी संगठन राष्ट्र की सर्वांगीण उन्नति के लिये समर्पित – परम पूज्य डॉ. मोहन भागवत जी आगरा (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा 33 सम – विचारी संगठनों के स्वयंसेवक कार्यकर्ताओं की एक दिवसीय समन्वय बैठक सरसंघचालक परम पूज्य डॉ. मोहन भागवत जी की उपस्थिति में सम्पन्न हुई. समन्वय बैठक में पश्चिम उत्तर प्रदेश (ब्रज और मेरठ प्रान्त) तथा उत्तराखण्ड के 33 संगठनों के 236 शीर्ष कार्यकर्ता सम्मिलित हुए. सरसंघचालक परम पूज्य डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि सभी संगठन स्वतन्त्र, स्वायत्त, स्वावलम्बी हैं. सभी के कार्यक्षेत्र, कार्य पद्धति, कार्यकर्ता भिन्न – भिन्न हैं. फिर भी सभी राष्ट्र की सर्वांगीण उन्नति के लिये काम करते हैं. स्वयंसेवक भाव की व्याख्या करते हुए कहा कि संघ की प्रतिज्ञा और प्रार्थना में व्यक्त भाव ही स्वयंसेवक भाव है. स्वयंसेवक प्रतिज्ञा करते हैं कि वे प्रमाणिकता, निस्वार्थ बुद्धि और तन-मन-धन पूर्वक राष्ट्र की सर्वांगीण उन्नति हेतु आजन्म कार्य करेंगे. संघ की प्रार्थना में भी स्वयंसेवक मातृभूमि के लिए स्वयं को अर्पित करने का भाव नित्य व्यक्त करते हैं. समाज क