पोस्ट

दिसंबर 15, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

विजय दिवस : 30 मिनट में टेक दिए थे पाकिस्तानी फौज ने घुटने

इमेज
    तत्कालीन प्रधान मंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी पूर्वी पाकिस्तान के दिग्गज नेता शेख़ मुजीबुर्रहमान को पाकिस्तान ने गिरफ़्तार किया.लेकिन गिरफ़्तार होने से पहले शेख़ मुजीब ने 'बांग्लादेश की स्वतंत्रता की घोषणा' कर दी.उन्होंने हर व्यक्ति से अंतिम पाकिस्तानी सैनिक के बांग्लादेश छोड़ने तक लड़ने का आहवान किया.इस आहवान के बाद नौ महीने तक बांग्लादेश की मुक्ति के लिए संघर्ष चला. 16 दिसंबर 1971 में बांग्लादेश का एक आज़ाद देश के रूप में जन्म हुआ.   तत्कालीन रक्षा मंत्री जगजीवन राम विजय दिवस जब 30 मिनट में टेक दिए थे पाकिस्तानी फौज ने घुटने 15-12-2010       लिंक  http://www.webvarta.com/ds_detail.php?ds_id=222 16 दिसंबर यानी कल विजय दिवस है। 16 दिसंबर, 1971 को भारत ने पाकिस्तान को हराकर इतिहास रचा था। पाकिस्तान के 93 हजार सैनिकों ने इस युद्ध के बाद घुटने टेके थे। 1971 में बांग्लादेश की आज़ादी को लेकर भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच हुई सीधी जंग में भारतीय जवानों ने बड़ी चतुराई और बहादुरी से दुश्मन के दांत खट्टे कर दिए थे। इस जंग के कई नायकों में से एक, जेएफआर जैकब