बुधवार, 22 दिसंबर 2010

आचार्य रजनीश

आचार्य रजनीश (रजनीश चन्द्र मोहन) अर्थात  ओशो के नाम से प्रख्यात हैं जो अपने विवादास्पद नये धार्मिक (आध्यात्मिक) आन्दोलन के लिये मशहूर हुए और भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका में रहे। रजनीश ने प्रचलित धर्मों की व्याख्या की तथा प्यार, ध्यान और खुशी को जीवन के प्रमुख मूल्य माना। ओशो रजनीश (११ दिसम्बर, १९३१ - १९ जनवरी १९९०) का जन्म भारत के मध्य प्रदेश राज्य के जबलपुर शहर में हुआ था। भारत व विदेशों में जाकर प्रवचन दिये।
         रजनीश अर्थात ओशो हैं , उनके धरा प्रवाह भाषणों के आधार पर ६५० से भी अधिक पुस्तकें २० भाषाओं में छप चुकी हैं , उनकी एक पुस्तक "भारत : एक अनूठी संपदा " है , उसमें उन्होंने ईसा मसीह के जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया है कि ईसा ज्ञान कि प्रकाश भारत से लेकर गए थे और उनकी मृत्यु भी भारत में ही हुई है !
*** अधिक जानकारी के लिए नीचे दी गई वेव पेज को पढ़ें ...
http://arvindsisodiakota.blogspot.com/2010/09/blog-post_28.html

1 टिप्पणी:

  1. acharya rajnish ki jankari bilkul thik hai ishu kya lekar yaha aye yah nahi pata lekin jab unhe kras par latkaya gaya to we bharat me aye aur yahi mrityu ko prapt hue.aisa sangh ke shri shudarshan ji ne bhi bataya tha.

    उत्तर देंहटाएं