पोस्ट

अगस्त 24, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सभी प्रकार की देश - धर्म रक्षाओं के प्रति तत्पर रहना होगा

इमेज
परिवारीक एकत्व का महान सामजिक हिन्दू पर्व : रक्षा बंधन - अरविन्द सीसोदिया       अखिल विश्व के आँगन में , सुख - शान्ति और समृधि को आनंद  के साथ  सिद्ध किया है तो वह भारत भूमि है , यहाँ हर  मनुष्य को संतोष के साथ सुख सिखाया गया है , पवित्रता के साथ जीवन जीना सिखाया गया है , रिश्तों का बंधन अनंत आत्मीयता के साथ गूंथा  गया है | यही कारण  क़ी इस संस्कृति  क़ी गहरी जड़ों को कोई भी हमलावर उखाड  नहीं सका...! या तो वे इसमें ही मिल गए या हाथ मल कर रह गए ...!! इस सिद्धी   के प्रमुख अंगों में वृत , त्यौहार और परंपराओं  क़ी  महती भूमिका हमेशा से ही रही है | रक्षा बंधन मूलतः बहिन  की मान मर्यादा क़ी रक्षा के लिए भाई की वचनवधता  है ..! इसके अतिरिक्त रक्षा सन्दर्भ  के  , अन्य विषय जैसे राष्ट्र रक्षा , सामाजिक एकता की रक्षा , वृक्षों क़ी रक्षा , मानव मूल्यों क़ी रक्षा , सासंकृतिक मूल्यों क़ी रक्षा ...!! इसका कारण यह है क़ी ये पूर्णिमा , रक्षा पूर्णिमा के नाम से भी विख्यात है ...!!     रक्षाबंधन एक हिदू  त्यौहार है जो श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। सावन में मनाए जाने के कारण इसे सावनी