पोस्ट

सितंबर 5, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

गहलोत सरकार ने कौड़ी के भाव में दी मंत्री बीना काक की संस्था को जमीन!

चित्र
  http://khabar.ibnlive.in.com/news   गहलोत सरकार ने कौड़ी के भाव में दी मंत्री की संस्था को जमीन!  राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपनी ही कैबिनेट मंत्री बीना काक की संस्था पर मेहरबान है। इस संस्था को नियमों को दरकिनार कर रिजर्व प्राईस की महज दस फीसदी दर पर दो हजार वर्गगज जमीन जयपुर की पॉश लोकेशन में महज सात लाख में आंवटित कर दी। जमीन की बाजार कीमत करीब 15 करोड़ है। वो भी तब जब इस संस्था को इससे पहले रियायती दर पर जमीन आवंटन की मांग सरकार ने 2008 में ठुकरा दी थी और राजस्थान आवासन मंडल ने आरक्षित दर पर पैसे जमा कराने का नोटिस दिया था। लेकिन सत्ता बदली तो नियम कायदे धरे रह गए। जयपुर के पॉश मानसरोवर इलाके के शिप्रा पथ में जमीन 70 हजार रुपए प्रति वर्ग मीटर से कम रेट पर मिले, लेकिन लगभग दो हजार मीटर का प्लॉट गहलोत सरकार ने अगस्त 2011 में महज 352 रुपए प्रति वर्ग मीटर की दर से आवंटित कर दिया। जिस संस्था को ये जमीन दी गई है उसका नाम है, ‘उमंग सेंटर फॉर स्पेशल एजेकुशन’ और इस संस्था की चेयरपर्सन राजस्थान की पर्यटन एवं वन मंत्री बीना काक हैं। याचिकाकर्ता अभय पुरोहित के मुताबिक काक ने प्