सोमवार, 4 अगस्त 2014

अपहरण, गैंगरेप, जबरदस्ती धर्म परिवर्तन

Samarendra Singh : ताज्जुब है. चारों तरफ खामोशी है. जैसे कुछ हुआ ही नहीं हो. कमाल की धर्मनिरपेक्षता है. गाजा में हुआ होता तो खबर बनती. सबका खून उबाल मारता. लेकिन मेरठ गाजा नहीं है. और जहां बलात्कार हुआ है वह मंदिर भी नहीं है. और जिसका बलात्कार हुआ और धर्म परिवर्तन कराया गया... वह मुसलमान नहीं है. इसलिए खबर नहीं है. कुछ साथी कह रहे हैं कि इस पर तीखी प्रतिक्रिया नहीं होनी चाहिए. यकीनन नहीं होनी चाहिए. लेकिन म्यांमार में और गाजा में और स्पेन में जो होता है उस पर यहां तीखी प्रतिक्रिया क्यों होती है?


इस्लाम को विक्टिम के तौर पर पेश क्यों किया जाता है? ऐसे मुल्क में जहां पहले से ही धार्मिक कट्टरता चरम पर हो, वहां दुनिया के दो मुल्कों के बीच की लड़ाई को धर्म विशेष से जोड़ कर पेश किया जाना और लहुलूहान जिस्म को प्रदर्शित करना कहां तक जायज है? और अगर वह सब जायज है तो मेरठ कांड पर तीखी प्रतिक्रिया क्यों नहीं दी जानी चाहिए? सलमान रुश्दी ठीक कहता है... इस्लाम के दिल में कुछ खोट है. अब इस खोट को दिल से बाहर निकालने की जिम्मेदारी तो इस्लाम के रहनुमाओं को ही उठानी पड़ेगी, वरना टकराव तो होगा ही.

- एनडीटीवी समेत कई चैनलों-अखबारों में काम कर चुके पत्रकार समरेंद्र सिंह के फेसबुक वॉल से


पहले अपहरण कियाफिर गैंगरेप इसके बाद कराया धर्म परिवर्तन

आशीष मिश्रा [Edited By: दीपिका शर्मा ] | 

http://aajtak.intoday.in/story/after-gangrape-girl-conversion--1-774442.html

लखनऊ, 4 अगस्त 2014मेरठ के खरखौदा क्षेत्र के एक गांव से युवती का अपहरण कर उसके साथ पहले तो गैंगरेप किया फिर उसका जबरन धर्म परिवर्तन करा दिया गया. करीब दस दिनों बाद रविवार को मुजफ्फरनगर के एक शिक्षण संस्थान से छूटकर युवती ने गांव पहुंचकर सनसनीखेज खुलासा किया.

युवती (20) स्नातक की पढ़ाई कर गांव के ही एक शिक्षण संस्थान में हिंदी और अंग्रेजी पढ़ाती थी. छह महीने पूर्व उसने नौकरी छोड़ दी थी. युवती के पिता की ओर से दर्ज एफआईआर में बताया गया कि 23 जुलाई को शिक्षण संस्थान के शिक्षक और ग्राम प्रधान ने साथियों के साथ युवती का अपहरण कर लिया. हापुड़ स्थित एक शिक्षण संस्थान में ले जाकर उससे गैंगरेप किया और जबरदस्ती उसका धर्म परिवर्तन करा दिया. युवती को पीटा गया और जान से मारने की धमकी दी गई.

दूसरी ओर युवती ने पुलिस को बताया कि उसे हापुड़ के अलावा गढ़मुक्तेश्वर के गांव दौताई और फिर मुजफ्फरनगर तथा देवबंद में उसे बंधक बनाकर रखा गया. वहां उसे बेहोश रखने के लिए नशे का इंजेक्शन लगाया जाता था. युवती के अनुसार उस शिक्षण संस्थान में उसकी जैसी करीब 45-50 और भी युवतियां थीं. उनकी भी ऐसी हालत कर यहां बंधक बनाकर रखा गया है. सभी को एक-एक कर सऊदी अरब में बेचने की तैयारी है.

युवती ने बताया कि उस शिक्षण संस्थान का निर्माण चल रहा है. रविवार तडक़े वह मौका पाकर वहां से फरार हो गई और बस से भैसाली बस अड्डा पहुंचकर किसी राहगीर से मोबाइल फोन लेकर परिजनों को पूरा प्रकरण बताया.

परिजन पीडि़त युवती को लेकर रविवार सुबह 10 बजे थाना खरखौदा पहुंचे और थानाध्यक्ष को पूरी बात बताई. आरोपियों के नाम बताने के बावजूद थानाध्यक्ष ने दोपहर दो बजे तक कोई कार्रवाई नहीं की. इसके बाद बीजेपी तथा हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता थाने पहुंचे और हंगामा किया. थाने का घेराव करते वक्त सीओ किठौर श्वेताभ पांडे से धक्कामुक्की भी हुई. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है.
------------------
मेरठ गैंगरेप और धर्म परिवर्तन कांड : 
2 और गिरफ्तार, हालात तनावपूर्ण, लेकिन नियंत्रण में
भाषा [Edited By: दिगपाल सिंह] | मेरठ, 6 अगस्त 2014

मेरठ में एक युवती के साथ कथित गैंग रेप और उसका जबरन धर्म परिवर्तन करने की घटना के सिलसिले में मंगलवार को दो और लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया. मामले में अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. जिले में हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में हैं. घटना पर लोगों का गुस्सा सामने आने के बाद केंद्र ने उत्तर प्रदेश सरकार से जल्द से जल्द विस्तृत रिपोर्ट मांगी है, वहीं पीड़िता के परिवार ने सीबीआई जांच की मांग की है.
मेरठ के जिला मजिस्ट्रेट पंकज यादव ने बताया, ‘जिले में किसी भी खराब स्थिति से बचने के लिए पुलिस बल के साथ आरएएफ की एक कंपनी तैनात की गयी है. हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में हैं.’ 20 साल की युवती को पहले कथित तौर पर अगवा करने और फिर उसके साथ गैंग रेप के मामले में तीन आरोपियों को सोमवार को गिरफ्तार किया गया था.

मंगलवार को लोकसभा में भी यह मामला उठा और मेरठ के सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने सीबीआई जांच की मांग की. इसके बाद सदन में बीजेपी और सपा के सदस्यों के बीच कहासुनी हो गयी. सपा के सदस्य बीजेपी सांसदों के आरोपों का विरोध कर रहे थे. बीजेपी के गिरिराज सिंह समेत कुछ सदस्यों को उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करते हुए सुना गया.

पीड़िता के भाई ने बताया कि निष्पक्ष जांच के लिए सीबीआई जांच होनी चाहिए और दोषियों को न्याय के कठघरे में लाया जाना चाहिए.
----------------

गैंगरेप और धर्म परिवर्तन मामले में नया खुलासा

ब्यूरो बुधवार, 6 अगस्त 2014
अमर उजाला, मेरठ, मुजफ्फरनगर

मेरठ में युवती से गैंगरेप और धर्म परिवर्तन के मामले में मंगलवार को एक नया खुलासा सामने आया। पुलिस के मुताबिक आरोपी हाफिज और उसके साथी युवती को विदेश भेजना चाहते थे। युवती का पासपोर्ट बनवाने के लिए उन्होंने पुलिस ऑफिस में एक प्रार्थना पत्र भी लगाया था।

गैंगरेप और धर्म परिवर्तन कराने के बाद पीड़ित युवती को हाफिज देवबंद स्थित एक मदरसे में छोड़ आया था। आरोपी हाफिज का अगला प्लान युवती को विदेश भेजने का था। यह जानकारी युवती को भी हो चुकी थी। पुलिस सूत्रों की मानें तो आरोपी आठ लड़कियों को धर्म परिवर्तन कराकर विदेश भेज चुके हैं। भाजपा, हिंदू संगठन और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को इसकी जानकारी लगी तो उनका गुस्सा और भड़क गया।

भाजपा नेताओं ने इसकी शिकायत डीआईजी से करते हुए आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। डीआईजी के. सत्यानारायणा ने बताया कि ऐसी शिकायत उनके पास आई थी। पुलिस ऑफिस में आरोपियों का प्रार्थना पत्र तलाश किया, लेकिन कुछ नहीं मिला। मामले की जांच कर कार्रवाई करेंगे।

आरोपियों पर लगेगी रासुका
डीआईजी ने बताया कि हाफिज, ग्राम प्रधान नवाब और अन्य आरोपियों पर रासुका लगाई जाएगी। पुलिस की तीन टीमें हाफिज की तलाश में लगी हैं। हाफिज की गिरफ्तारी के बाद इस वारदात में कई और खुलासे हो सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें