पोस्ट

जनवरी 24, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

श्रीनगर में तिरंगा : शर्म आती है इस प्रधानमंत्री और केंद्र सरकार पर

चित्र
- अरविन्द सीसोदिया        अपने देश में अपना झंडा फहरानें के विरोध में देश की केंद्र सरकार सक्रीय हो यह भारत के अलावा कहीं भी देखनें में नहीं आसकता..., यह देश की इस कमजोर और कायर सरकार की असलियत के उजागर होने का भी अवसर है.....! जम्मू और कश्मीर तथा तिब्बत के मामलें में देश के साथ धोका और विश्वास घात की इबारत  कांग्रेस और उसके नेहरु वंश के ही नाम दर्ज है ! ये ही वे लोग हैं जिन्होनें ये नासूर बोये और बड़े किये ..! अब तो  इनकी असलियत ही प्रश्न चिन्हित है ? ये देश के हैं देश विरोधी सत्ता स्वार्थी हैं !! एक खबर है ----- 26 जनवरी २०११  को श्रीनगर के लाल चौक पर भाजपा कि युवा शाखा के द्वारा  राष्‍ट्रीय झंडा फहराने का मामला राष्‍ट्रीय स्‍तर पर तूल पकड़ चुका है। २४ जनवरी २०११ सोमवार को जम्‍मू पहुंचे भाजपा के आला नेताओं को एयरपोर्ट से नहीं निकलने दिया जा रहा है। भाजपा की सुषमा स्वराज, अरुण जेटली और अनंत कुमार जम्मू एयरपोर्ट पर ही धरने पर बैठ गए। चूंकि एयरपोर्ट का क्षेत्र केंद्र सरकार के अधीन है और जैसे ही ये नेता एयरपोर्ट से बाहर निकलकर जम्‍मू-कश्‍मीर राज्‍य के क्षेत्र में पहुंचेंगे, इन्‍हें ग