पोस्ट

जुलाई 11, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

30% MPs, MLAs have criminal cases against them

इमेज
30% MPs, MLAs have criminal cases against them Jul 11, 2013 New Delhi: In a landmark verdict, the Supreme Court ruled Wednesday that a convicted elected representative cannot continue in office. However, an analysis of affidavits declared by MPs and legislators shows that around 30 percent of 4,807 lawmakers have criminal cases against them, said a think-tank. The Association for Democratic Reforms (ADR) and National Election Watch (NEW), in an analysis of the affidavits provided by candidates to the Election Commission of India before contesting an election, also found that 14 percent of the current MPs and legislators have “serious criminal cases” against them. According to analysis of data, 162 or 30 percent of the 543 Lok Sabha MPs have declared criminal cases against themselves, while 14 percent of the Lok Sabha MPs have declared serious criminal cases against themselves, said the think-tank in a statement here. It said 1,258 – or 31 percent – of the 4,032 sitting le

भ्रष्टाचार में इजाफा : दो गुनी रफ्तार

हमारे देश में दोगुनी रफ्तार से हो रहा है भ्रष्टाचार में इजाफा एजेंसी | Jul 10, 2013 लंदन. भारत में भ्रष्टाचार विश्व की तुलना में दोगुनी रफ्तार से बढ़ रहा है। विश्व में 27 प्रतिशत लोगों ने कहा कि उन्होंने पिछले 12 महीनों में रिश्वत दी है जबकि अकेले भारत में यह 54 प्रतिशत रहा। यानी हर दो में से एक व्यक्ति ने माना कि उसने रिश्वत दी है। भारत में सबसे ज्यादा भ्रष्ट संस्थानों में राजनीतिक दलों का नंबर रहा। इनकी दर 5 के स्केल पर 4.4 रही। इसमें 1 का मतलब सबसे कम भ्रष्ट और 5 का मतलब सबसे ज्यादा भ्रष्ट था। भ्रष्टाचार मुक्त भविष्य के लिए सनक तेजी से बढ़ रही है लेकिन भारत में 45 फीसदी लोगों का कहना है कि वे नहीं समझते कि आम आदमी के कुछ करने से कोई फर्क पड़ेगा। वहीं, 34 फीसदी लोगों ने (यानी हर तीन में से एक ने) बताया कि वे भ्रष्टाचार की शिकायत ही नहीं करते। यह निष्कर्ष ग्लोबल करप्शन बैरोमीटर-2013 का है। यह मंगलवार को जारी हुआ। सर्वे में 107 देशों के 1.14 लाख लोगों को शामिल किया गया। जवाब देने वाले हर चार में से 1 ने माना कि उसने रिश्वत दी है। 54 फीसदी मानते हैं कि उनकी सरकारें आम आदमी की जगह नि