पोस्ट

जुलाई 24, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

घोर घ्रणित हिंषक और अमानवीय अमरीका , मानवता का ठेकदार कैसे ?

चित्र
मेरी समझ में आज तक नहीं आ रहा कि अमरीका की नजर में मोदी अमानवीय कैसे हो गए ? सबसे ज्यादा हिंषक , देश के देश और हजारों लाखों  निर्दोषों को निर्मम मौत के घाट उतरने वाला अमरीका,,मानवता की बात का भी हक़ कैसे रखता हे … हिरोशिमा , नगशाकी , इराक और अफगानिस्तान …., अमरीका के मूल लोगों को किसने साफ़ कर दिया ……  हमेशा  अमरीका ने मानवता को मारा---- उसकी कोई और मिशाल हे …? घोर घ्रणित हिंषक और अमानवीय अमरीका , मानवता का ठेकदार कैसे ? मानवता पर सबसे बड़ा कलंक है परमाणु हमला http://www.vigyanpedia.com/2012/08/blog-post_9.html शशांक द्विवेदी / बृहस्पतिवार, 9 अगस्त 2012 आज से ठीक 67 वर्ष पूर्व अमेरिकी परमाणु हमले में जापान के दो शहर हिरोशिमा और नागासाकी पूरी तरह से तहस नहस हो गए थे । उस परमाणु हमले की विभीषिका आज भी रोंगटे खड़े कर देने वाली है ,ऐसा लगता है कि अब अगर परमाणु युद्ध हुए तो पूरी दुनियाँ ही तबाह हो सकती है । हिरोशिमा दुनिया का पहला ऎसा शहर है जहां अमेरिका ने  6 अगस्त 1945 में यूरेनियम बम गिराया था और इसके तीन दिन बाद यानी 9 अगस्त को नागासाकी पर परमाणु बम गिराया गया। इस बमबारी के