शनिवार, 19 फ़रवरी 2011

केंसर का बचाव : आयुर्वेद से ....

- अरविन्द सिसोदिया 
खेजड़ी की सूखी  सांगरी , ह्रदय और कैंसर की रोकथाम में मदद गार ....
 
बीकानेर। खेजड़ी की सूखी सांगरी में ऎसा रसायन है जो दिल की बीमारी, सूजन एवं कैंसर की रोकथाम करता है। यह जानकारी भारतीय मूल के अमरीकी वैज्ञानिक डॉ. एम.जी. नैयर ने दी। वे यहां केन्द्रीय शुष्क बागवानी संस्थान में शुष्क क्षेत्रीय फल एवं सब्जियों में जैव प्रौद्योगिकी से पोषक तत्वों और औषधीय गुणों में बढोतरी तकनीक पर प्रशिक्षण सत्र को सम्बोधित कर रहे थे। यहां भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की राष्ट्रीय कृषि नवाचार योजना में कृषि वैज्ञानिकों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 
मैथी मधुमेह रोग प्रतिरोधी
उन्होंने बताया कि मैथी के पत्तों में ऎसा रासायनिक पदार्थ है जो सूजन एवं मधुमेह रोग प्रतिरोधी है। इसी तरह अश्वगंधा के पौधे में मिलने वाले रसायन कैंसर, अल्जीमर को रोकते हैं। डॉ. नैयर ने फल एवं सब्जियों में औषधीय गुणों वाले रासायनिक पदार्थो से औषधीय उद्यमिता व बाजार विकसित करने पर जोर दिया।

केर-काचरी भी रोग प्रतिरोधक
डॉ. सुरेश वालिया ने बताया कि बेर, अनार, बेलपत्र, फालसा, केर, काचरी, मतीरा में प्रति आक्सीकारक, एंेंथोसाइनिन, काक्सी-2 प्रतिरोधी, केरोटीन, ग्लूकोसाइडस, एल्कोलोइडस रसायन मिलते हैं। इससे अल्जीमर, सूजन, कैंसर, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, डायरिया, पेचिस आदि बीमारियों की रोकथाम होती है।

काली गाजर अधिक स्वास्थ्यवर्द्धक
डॉ.चरण जीत कौर ने कहा कि काली गाजर व टमाटर औषधीय रूप से बहुत उपयोगी है। टमाटर में लाइकोपिन पदार्थ प्रोस्टेट कैंसर व ह्वदय रोग प्रतिरोधी है। संस्थान के निदेशक डॉ. एस.के.शर्मा ने कहा कि इस प्रशिक्षण से फल-सब्जियों में पोषण-औषधीय गुणों पर लोगों की चेतना बढ़ेगी।
----------
केंसर का फ्री इलाज......दोस्तो नमस्ते. आशा है आप सब ठीक से हैं. दो सप्ताह केलिये इंडिया जाना पड़ा. आपको मेने पहले बताया था की मेरे पिता जी को लन्ग केंसर था. दोस्तो राजेस्थान मे एक आश्रम है. व्हाँ केंसर का इलाज मुफ्त होता है. मेरे पिता जी को राजीव गाँधी केंसर हॉस्पिटल मे इलाज के समय 1 साल का समय दिया था. ये जो अश्रम मे बता
अतिरिक्त जानकारी रहा हूँ वहां इलाज बिल्कुल मुफ्त है. गले के नीचे का केंसर 6 महीने मे ओर गले से उप्पर का केंसर 9 महीने मे उनकी दवा से ठीक हो जाता है. ए हमारा अपना एकश्पीरियंस है. अगर किसी जानकार को ए स्मस्या हो तो कृपया भले के लिये जरूर बताएं. उनका पता है बाबा कमल नाथ आश्रम भिन्डुसी तिजारा राजेस्थान. ए अश्रम देल्ही से 125 किलोमीटर है .  

-----------
केंसर का रामबाण इलाज है यह पौधा
तुलसी का पौधा कितना अनमोल है, यह इसी बात से पता चल जाता है कि इसे गुणों को देखकर इसे भगवान की तरह पूजा जाता है। यूं तो आज हर आदमी को किसी न किसी बीमारी ने अपने कब्जे में कर रखा है। लेकिन केंसर एक ऐसी बीमारी है जो लाइलाज कही जाती है।
तक इस बीमारी का कोई परमानेंट इलाज नहीं है। आज यह बीमारी तेजी से फैल रही है। वैसे तो केंसर का कोई परमानेंट इलाज नहीं है लेकिन फि र भी आर्युवेद ने तुलसी को केंसर से लडऩे का एक बड़ा तरीका बताया है। आर्युवेद में बताया गया है कि तुलसी की पत्तियों के रोजाना प्रयोग से केंसर से लड़ा जा सकता है। और इसके लगातार प्रयोग से केंसर खत्म भी हो सकता है।
- कैंसर की प्रारम्भिक अवस्था में रोगी अगर तुलसी के बीस पत्ते थोड़ा कुचलकर रोज पानी के साथ निगले तो इसे जड़ से खत्म भी किया जा सकता है।
-तुलसी के बीस पच्चीस पत्ते पीसकर एक बड़ी कटोरी दही या एक गिलास छाछ में मथकर सुबह और शाम पीएं कैंसर रोग में बहुत फायदेमंद होता है।
केंसर मरीज के लिए विशेष आहार- अंगूर का रस, अनार का रस, पेठे का रस, नारियल का पानी, जौ का पानी, छाछ, मेथी का रस, आंवला,लहसुन, नीम की पत्तियां, बथुआ, गाजर, टमाटर, पत्तागोभी, पालक और नारियल का पानी।  

3 टिप्‍पणियां: