पोस्ट

मार्च 2, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सजा इतनी तो होनी ही चाहिए कि फिर कोई गोधरा न हो ...

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया      हमारे देश के कमजोर, गैर जिम्मेवार और सत्तालोलुप हुक्मरानों के कारण,  देश में हिन्दू - मुस्लिम को आपस में मुर्गों की तरह लडानें का सिलसिला अभी भी चल रहा है ..!! अंग्रेजों ने तो यह खेल अपनी सत्ता  बनाये रखनें के लिए खेला था..!  देश की न्यायपालिका,प्रशासन और मिडिया वह मंच था जो निष्पक्ष होजाता तो .., यह सिलसिला रु सकता था .., न्यायलय को छोड़ कर अन्य तंत्रों नें अपनी विश्वसनीयता खो दी है ..!     .....मगर कांग्रेस ने भी वही अंग्रेज खेल लगातार अपनी सत्ता बनाये रखनें के लिए खेला और निर्दोष हिन्दू और मुसलमानों को आपस  में लड़वाया ..!!  उन्हें आपस में लड़वा कर ; अपना सत्ता  सुख सुनिश्चित किया ; गोधरा वह सच है जिसमें यह स्पष्ट है कि कांग्रेस के नेता गण अपराध का नेतृत्त्व कर रहे थे ..! यह सजा इसलिए कम है कि इस अत्यंत गैर जिम्मेवार ढंग से कि गई अपराधिका  से दोनों पक्षों के यथा हिन्दू और मुस्लमान जो निर्दोष थे ; मरे गए ; बेघर हुए.., दंगे हुए थे .., पूरा देश ही दंगों कि लपेट में आ सकता था ..!          ....इसलिए सजा इतनी तो होनी ही चाहिए कि फिर कोई गोधरा न हो ...!! गोधरा मे

maha shivaratri : शिवरात्रि शिव और शक्ति

इमेज
       This year 2012   maha shivaratri 20 February ..,     Auspicious festival of Mahashivaratri falls on the 13th or the 14th night of the new moon during  Krishna Paksha  in the Hindu month of  Phalgun.  The Sanskrit term, Krishna Paksha means the period of waning moon or the dark fortnight and Phalguna corresponds to the month of February - March in English Calendar. Shivaratri Festival is celebrated on a moonless night.     According to Hindu mythology, Shivaratri or  'Shiva's Great Night' symbolizes the wedding day of Lord Shiva and Parvati. Many however, believe, Shivaratri is the night when Lord Shiva performed the  Tandava Nritya  - the dance of primordial creation, preservation and destruction. Celebrating the festival in a customary manner, devotees give a ritual bath to the Lingam with the  panchagavya  - milk, sour milk, urine, butter and dung. Celebrations of Shivaratri Festival mainly take place at night. Devotees of Lord Shiva throng Shiva temples acr