पोस्ट

अप्रैल 11, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Jyotiba Phule : social reformers

चित्र
Jyotiba Phule Born: 11 April, 1827 Passed Away: 28 November, 1890 Contributions Jyotiba Phule was one of the prominent social reformers of the nineteenth century India. He led the movement against the prevailing caste-restrictions in India. He revolted against the domination of the Brahmins and for the rights of peasants and other low-caste fellow. Jyotiba Phule was believed to be the first Hindu to start an orphanage for the unfortunate children. Life Jyotirao Phule was born in Satara district of Maharastra in 1827. His father, Govindrao was a vegetable-vendor at Poona. Originally Jyotirao's family belonged to 'mali' caste, considered as inferior by the Brahmins. Since, Jyotirao's father and uncles served as florists, the family came to be known as `Phule'. Jyotirao's mother passed away when he was nine months old. Jyotirao was an intelligent boy but due to the poor financial condition at home, he had to stop his studies at an early age. He sta

कीर्तन - राधे राधे, श्याम मिला दे

चित्र
कीर्तन - राधे राधे राधे राधे, श्याम मिला दे गोवर्धन में, राधे राधे वृन्दावन में, राधे राधे कुसुम सरोवर, राधे राधे हरा कुन्ज में, राधे राधे गोवर्धन में, राधे राधे पीली पोखर, राधे राधे मथुरा जी में, राधे राधे वृन्दावन में, राधे राधे कुन्ज कुन्ज में, राधे राधे पात पात में, राधे राधे डाल डाल  में, राधे राधे वृक्ष वृक्ष में , राधे राधे हर आश्रम में, राधे राधे माता बोले, राधे राधे बहना बोले, राधे राधे भाई बोले, राधे राधे सब मिल बोलो, राधे राधे राधे राधे,राधे राधे राधे राधे, श्याम मिला दे -- अरे मथुरा जी में, राधे राधे वृन्दावन में, राधे राधे पीली पोखर , राधे राधे गोवर्धन में, राधे राधे सब मिल बोलो, राधे राधे प्रेम से बोलो, राधे राधे सब मिल बोलो, राधे राधे अरे बोलो बोलो, राधे राधे अरे गाओ गाओ, राधे राधे सब मिल गाओ, राधे राधे प्रेम से बोलो, राधे राधे सब मिल बोलो, राधे राधे जोर से बोलो, राधे राधे -- राधे राधे,राधे राधे राधे राधे, श्याम मिला दे

उत्तर प्रदेश में गुंडाराज की वापसी , दबंगों ने दहशत फैलाने के लिए महिला को निर्वस्त्र कर घुमाया

चित्र
उत्तर प्रदेश में गुंडाराज की वापसी  दबंगों ने दहशत फैलाने के लिए महिला को निर्वस्त्र कर घुमाया आईबीएन-7Posted on Apr 10, 2012 लखनऊ।उत्तर प्रदेश में एक बार फिर इंसानियत को शर्मसार करने वाली वारदात सामने आई है। बाराबंकी में एक महिला को निर्वस्त्र कर सरेआम गांव में घुमाया गया। महिला को निर्वस्त्रकर घुमाने वाले फिलहाल फरार हैं। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। बाराबंकी में दबंगों ने एक महिला को निर्वस्त्र कर सरेआम घुमाया। ये घटना कल शाम की है। खबरों के मुताबिक महिला के साथ मारपीट भी की गई। महिला को निर्वस्त्र कर घुमाने वाले दबंग इस वारदात को अंजाम देकर गांव से फरार हैं। गांव के लोगों का कहना है कि दबंगों में गांव में दहशत बनाने के लिए ऐसा किया है। फिलहाल पुलिस गांव में है। मामले की छानबीन कर रही है। दबंग गांव से फरार है। गांव के लोगों का कहना है कि शुरुआती शिकायत के कई घंटे बाद भी पुलिस कार्रवाई करने को तैयार नहीं थी। फिलहाल जांच चल रही है। पुलिस ने फरार आरोपियों को पकड़ने की कोशिश तेज कर दी है।