पोस्ट

जुलाई 29, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

सस्पेंड अखिलेश यादव होना चाहिए :असली साम्प्रदायिक अखिलेश

इमेज
 सस्पेंड अखिलेश यादव होना चाहिए असली साम्प्रदायिक अखिलेश उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आई ए एस अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपाल  को गलत सस्पेंड किया है, उन्होने अपनी शक्तियों का अपाराधिक दुरउपयोग किया है। असल में साम्प्रदायिकता तो मुख्यमंत्री ने की है। जो कि मूल साम्प्रदायिकता अवैध निर्माण कर्ता पर कार्यवाही के बजाये कानून की रक्षा करने वाले को सस्पेंड किया ।  ---- क्या धर्म की राजनीति कर रहे हैं अखिलेश यादव? एबीपी न्यूज़ ब्यूरो Thursday, 01 August 2013 नोएडा / लखनऊ: यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि दुर्गा शक्ति नागपाल का निलंबन सही फैसला है. अखिलेश के मुताबिक लोकल इंटेलीजेंस यूनिट की रिपोर्ट पर कार्रवाई हुई. अखिलेश ने डीएम की उस रिपोर्ट पर कुछ नहीं कहा जिसमें कहा गया है कि मस्जिद की दीवार गांव वालों ने गिराई. केंद्र सरकार ने निलंबन पर रिपोर्ट मांगी है. बड़ा सवाल ये है कि क्या अखिलेश अफसर के तलाबदले को धर्म का रंग देकर राजनीति कर रहे हैं? दुर्गा नागपाल के निलंबन को लेकर भले ही लखनऊ से लेकर दिल्ली तक बवाल मचा है, लेकिन यूपी की सरकार को लगता है कि दुर्गा

राज्यसभा : यहां सब करोड़पति हैं, जीतने वाले भी और हारने वाले भी

इमेज
यहां सब करोड़पति हैं, जीतने वाले भी और हारने वाले भी शमशेर सिंह/ [Edited By: संदीप कुमार सिन्हा] | नई दिल्ली, 29 जुलाई 2013 http://aajtak.intoday.in/story कांग्रेस के पूर्व महासचिव और राज्यसभा सांसद चौधरी बीरेंद्र सिंह ने खुलासा किया है कि 100 करोड़ में राज्यसभा की सीट बिकती है.  ऐसे में सभी की भौहें तन गईं कि क्या वाकई में संसद पहुंचने के लिए करोड़ों का चढ़ावा चढ़ता है. बवाल खड़ा हुआ तो बीरेंद्र सिंह अपने बयान से पलट गए. नया बयान दे डाला कि सिर्फ करोड़पतियों को राज्यसभा नहीं जाना चाहिए. सवाल यह उठता है कि राज्यसभा ही क्यों, लोकसभा या विधानसभा में जो हुक्मरान बैठते हैं, क्या उन पर मां लक्ष्मी की कृपा नहीं है?  जवाब हैं हां. यह हम नहीं, आंकड़ें बयान कर रहे हैं. ऐसे आंकड़ें जो बताते हैं कि चाहे कोई सांसद बने या फिर ना बने, चाहे कोई विधायक बने या फिर ना बने. सियासत के अखाड़े में जो भी कूदा, औसतन हर पहलवान करोड़पति तो है ही. 2004 से लेकर अब तक जितने भी नेताओं ने विधानसभा और लोकसभा के चुनाव में अपनी किस्मत अजमाई है, करीबन सभी पर मां लक्ष्मी की अपार कृपा है. हमारे नेताओं की संपत्त