पोस्ट

मार्च 13, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

ऎसा मंदिर जहां भगवान राम पहुंचे

इमेज
पाक में 17 लाख साल से बज रहा पंचमुखी हनुमान का डंका  Tuesday, 13 January, 2015 नई दिल्ली। पाकिस्तान में है एक ऎसा मंदिर जहां भगवान राम पहुंचे। 17 लाख साल पहले बने इस पंचमुखी हनुमान मंदिर में हर मनोकामना पूर्ण होती है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के कराची में स्थित इस मंदिर का पुर्ननिर्माण 1882 में किया गया। मंदिर में पंचमुखी हनुमान की मनमोहक प्रतिमा स्थापित है। बताया जाता है कि हनुमानजी की यह मूर्ति डेढ़ हजार साल पहले प्रकट हुई थी। जहां से मूर्ति प्रकट हुई वहां से मात्र 11 मुट्ठी मिट्टी को हटाया गया और मूर्ति सामने आ गई। हालांकि इस रहस्मयी मूर्ति का संबंध त्रेता युग से है। मंदिर पुजारी का कहना है कि यहां सिर्फ 11-12 परिक्रमा लगाने से मनोकामना पूरी हो जाती है। हनुमानजी के अलावा यहां कई हिन्दु देवी-देवताओं की मूर्तियां स्थापित हैं। गौरतलब है कि इस मंदिर के दर्शन भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी और जसवंत सिंह भी कर चुके हैं। कटासराज मंदिर परिसर, पंजाब पाकिस्तान के पंजाब की राजधानी से लाहौर 270 किलोमीटर दूरी पर चकवाल जिले में स्थित है कटासराज मंदिर। कहा जाता है कि यहीं पर पांडवों ने आदिकाल स

संघ की शाखाओं की संख्या में वृद्धि हुई : कुल संख्या आज 55,010

इमेज
पत्रकार वार्ता में सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय जी होस्बोले एवं अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डॉ  मनमोहन वैद्य रा. स्व. संघ सिर्फ लोगों में देशभक्ति की चिंगारी प्रज्ज्वलित करता है और राष्ट्रीय हित के लिए प्रेरित -दत्तात्रेय जी होसबले रा. स्व. संघ सिर्फ लोगों में  देशभक्ति की चिंगारी प्रज्ज्वलित करता है और राष्ट्रीय हित के  लिए प्रेरित -दत्तात्रेय जी होसबले   जम्मू-कश्मीर के संदर्भ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की नीति में कोई परिवर्तन नहीं -  दत्तात्रेय जी होसबले संघ के तृतीय सरसंघचालक श्री. बालासाहब देवरसजी का जन्म शताब्दि वर्ष पर सामाजिक समरसता के विशेष कार्यक्रम चलाये जायेंगे संघ की शाखाओं की संख्या में वृद्धि कुल संख्या  55,010 नागपूर 13 मार्च २०१५।  जम्मू-कश्मीर के संदर्भ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की नीति में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है; वहाँ भा.ज.पा. और पी.डी.पी. की मिली जुली सरकार बनने के बाद, सरकार ने जो आपत्तिजनक फैसले लिये हैं, उनके विरुद्ध रा. स्व. संघ ने भी तीव्र चिंता प्रकट की है, ऐसा कथन रा. स्व. संघ के सहसरकार्यवाह श्री दत्तात्रेय जी होसबले ने स्पष्ट किया। होस्बोल

‘यूनाइटेड किंगडम्स डॉटर’:United Kingdom’s Daughters

इमेज
निर्भया की डॉक्यूमेंट्री के जवाब में ‘यूनाइटेड किंगडम्स डॉटर’! ibnkhabar.com | Mar 12, 2015 http://khabar.ibnlive.in.com/news/137826/2 नई दिल्ली। निर्भया कांड को लेकर बनी बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री पर केंद्र सरकार ने बैन लगाया लेकिन बीबीसी ने इस बैन को ठेंगा दिखाते हुए डॉक्यूमेंट्री प्रसारित कर दी। यूट्यूब पर भी इस डॉक्यूमेंट्री को अपलोड कर दिया गया जिसे भारत सहित दुनिया भर में देखा गया। कई लोग जहां इस डॉक्यूमेंट्री पर बैन के खिलाफ हैं तो कई ऐसे भी हैं जो इसे बीबीसी द्वारा भारत की गलत छवि पेश करने की कोशिश के तहत देखते हैं। ऐसे ही एक शख्स हैं हरविंदर सिंह जिन्होंने बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री के जवाब में एक वीडियो यूट्यूब पर पोस्ट किया है और इसे नाम दिया है ‘यूनाइटेड किंगडम्स डॉटर’ इस वीडियो के बारे में हरविंदर लिखते हैं कि ये बीबीसी को जवाब है कि बेटियां सिर्फ बेटियां होती हैं, वे भारतीय या ब्रिटिश नहीं होतीं। हरविंदर ने ये वीडियो इस बात के सबूत के तौर पर पोस्ट किया है कि भारत ही नहीं ब्रिटेन में भी रेप की भयावह स्थिति है लेकिन बीबीसी इसे मुद्दा नहीं बनाता। वीडियो 9 मार्च को पोस्ट