पोस्ट

जनवरी 28, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

हिदुत्व का मतलब : ' जैसा मैं हूं वैसा तू है ' : सरकार्यवाह माननीय भैया जी जोशी

इमेज
कर्णावती (गुजरात) में आयोजित सामाजिक सद्भाव बैठक को संबोधित करते हुए  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भैया जी जोशी ने कहा कि हिन्दू समाज कभी भी विनाशकारी नहीं रहा है, इस समाज ने हमेशा सभी को संरक्षण ही दिया है। कालान्तर में हिन्दू समाज में कुछ दोष आ  गया क्योंकि उसे अपनी ही रक्षा में लगना पड़ा। इन दोषों में एक दोष जाति आधारित भेदभाव का आ गया। भेदभाव मिटाने का काम सामूहिक रूप से सभी प्रयासों से संभव है। अगर समाज से जाति हट नहीं सकती तो भूलने की कोशिश करें और अगर भूलना भी संभव नहीं हो तो जाति के आधार पर भेदभाव बंद करना चाहिए। उन्होंने कहा कश्मीर से कन्याकुमारी तक, राजस्थान से मणिपुर तक इस देश में रहने वालों में कुछेक बातें एक समान हैं जैसे हिन्दू समाज के व्यक्तियों के नाम, बोली जाने वाली भाषा, धार्मिक ग्रन्थ, हमारे देवी देवता, तीर्थ यात्रा के स्थल, प्रेरणास्रोत महापुरुष आदि कोई भी जाति आधारित नहीं है। हम 'प्राणिमात्र में ईश्वर है' यह मानने वाले हैं। इसलिए समाज में गोमाता, नाग देवता, तुलसी, पीपल भूमि आदि सबकी पूजा बिना जातिगत भेदभाव के होती है। क्रांतिकारियों की जाति क