पोस्ट

जनवरी 1, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ा जनांदोलन-संघ

इमेज
विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ा जनांदोलन  - प्रोफेसर भगवती प्रकाश शर्मा           पाली, 25 दिसंबर 2016. ‘‘विमुद्रीकरण देश में काले धन के खिलाफ सबसे बड़ा जनांदोलन है जिसके कारण देश को हानि पहुंचाने वाले आतंकवादिया, नक्सलवादियों, नशा कारोबारियों, रिश्वतखोरों समेत देश के अहित में कार्य करने वाले हर व्यक्ति की कमर टूटी है।’’ ये उद्गार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राजस्थान क्षेत्र के संघचालक प्रोफेसर भगवती प्रकाश शर्मा ने व्यक्त किये। श्री शर्मा रविवार को स्थानीय नगर परिषद सभागार में ‘‘विमुद्रीकरण में निहित राष्ट्रहित’’ विषय पर राष्ट्रीय  स्वयंसेवक संघ के प्रचार विभाग द्वारा आयोजित संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे।          इस अवसर पर प्रो. शर्मा ने कहा कि विमुद्रीकरण के पश्चात कष्ट सहते हुए भी देश का गरीब इस पुनीत कार्य में सिर पर शिकन लाए बगैर अपनी भावी पीढियों के उज्जवल भविष्य की कामना को साकार होते देख रहा है। इस फैसले के पश्चात जहां नकली धन के काराबोरियों को नुकसान हुआ है वहीं बैंक में जमा होने के पश्चात लोगों के घरों में पड़ा पैसा देश की जीडीपी दर बढाने में प्रमुख भ

मोदी-कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी

इमेज
नववर्ष 2017 पर पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन, बोले-  कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी... : खास बातें पूजा प्रसाद द्वारा लिखित, अंतिम अपडेट: शनिवार दिसम्बर 31, 2016 नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 दिसंबर 2016 यानी आज राष्ट्र को संबोधित किया. पीएम मोदी ने इससे पहले 8 नवंबर को देश को संबोधित किया था, जब उन्होंने देश से भ्रष्टाचार और काले धन को खत्म करने के लिए 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोट बंद किए जाने की घोषणा की थी. आज उन्होंने विमुद्रीकरण और काले धन पर बात कर बात की. इसके अलावा उन्होंने कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएं भी कीं. उन्होंने कहा कि दीवाली के तुरंत बाद हमारा देश ऐतिहासिक शुद्धि यज्ञ का गवाह बना. आइए जानें इस अवसर पर पीएम मोदी द्वारा कही गई बातों के मुख्य अंश : अच्छाई के लिए होने वाले आंदोलनों में जनता और सरकार आमने सामने होते हैं, लेकिन इस आंदोलन में सरकार और जनता दोनों कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ रहे हैं. 'कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी', इसे देशवासियों ने जीकर दिखाया. भारतीयों ने जो कष्ट सहा, वह आने वाली पीढ़ियों के लिए उदा

राष्ट्र के नाम संबोधन 31Dec2016 : अहम बातें

इमेज
पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण की 7 अहम बातें, जिन्हें जानना है जरूरी पीएम नरेंद्र मोदी ने 31dec2016 देश के नाम संबोधन किया और कई अहम स्कीम शुरू कीं। साथ ही पीएम मोदी ने कई राहतें भी दीं। आइए जानते हैं पीएम के भाषण की 7 अहम बातें। नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31dec2016 पर राष्ट्र के नाम संबोधन में नोटबंदी के फैसले की चर्चा की। नोटबंदी के दौरान जिस तरह से देशवासियों ने धैर्य का परिचय दिया उसकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमकर तारीफ भी की। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई नई योजनाओं और राहतों की भी घोषणा की। आइए जानते हैं पीएम मोदी के भाषण की 7 अहम बातें।  प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शुरू हुईं दो स्कीमें, ब्याज पर दी जा रही भारी छूट 1- प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहरों में गरीब, निम्न मध्यम वर्ग, और मध्यम वर्ग के लिए दो योजनाएं शुरू की गई हैं। शहरों में इस वर्ग को नए घर देने के लिए 2017 में घर बनाने पर 9 लाख रुपए तक के कर्ज पर ब्याज में 4 फीसदी की छूट दी जाएगी। वहीं दूसरी ओर, 12 लाख रुपए तक के कर्ज पर ब्याज में 3 फीसदी की छ

सभी स्तरों पर भ्रष्टाचार को समाप्त करना होगा: प्रधानमंत्री मोदी

इमेज
हमें सभी स्तरों पर भ्रष्टाचार को समाप्त करना होगा: प्रधानमंत्री मोदी December 27, 2016 भारत माता की....जय मंच पर विराजमान केंद्र में मंत्री परिषद के मेरे साथी श्रीमान नितिन गडकरी जी, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्रीमान अजय भट्ट जी, संसद में मेरे साथी और पूर्व मुख्यमंत्री श्री खंडूरी जी, कोश्यारी जी, निशंक जी, यहां के पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा जी, केंद्र में मेरे साथी श्री अजय टम्टा जी, धर्मेंद्र प्रधान जी, मनसुख मानवीय जी, संसद में साथी महारानी राजलक्ष्मी जी, श्रीमान सतपाल महाराज जी, मंच पर विराजमान सभी वरिष्ठ महानुभाव और विशाल संख्या में पधारे हुए मेरे प्यारे भाईयों और बहनों... आप लोगों ने आज कमाल कर दिया है। सारे माथे ही माथे नजर आ रहे हैं। वहां दूर-दूर छत पर इतनी भीड़ है मुझे मालूम नहीं उनको सुनाई दे रहा है कि नहीं सुनाई दे रहा है। इतनी बड़ी संख्या में माता व बहनें आशीर्वाद देने आई हैं, मैं आपको विशेष नमन करता हूं। भाईयों और बहनों...ये देवभूमि है, ये वीरों की भी भूमि है, ये वीर माताओं की भी भूमि है और उस धरती पर इतनी बड़ी संख्या में आप मुझे आशीर्वाद देने आए, मैं आप