पोस्ट

जनवरी 17, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

प्राईवेट स्कूलों की मनचाही फीस वृद्धि पर अब जनशक्ति का होगा नियंत्रण

इमेज
प्राईवेट स्कूलों की मनचाही फीस वृद्धि पर अब जनशक्ति का होगा नियंत्रण             राजस्थान में भी प्राईवेट स्कूल धन कमानें का जर्या मात्र बन गया था। बच्चों के अभिभावकों से मनचाही फीस वसूली और शिक्षकों को नाम मात्र का वेतन यही सच्चाई है। निजि स्कूल के संचालकों की सम्पन्नता ने चांद छूनें में कोई कसर नहीं रखी मगर जनता के पास शोषित होनें के अलावा कोई रास्ता नहीं था। राजस्थान की कल्याणकारी मुख्यमंत्री सम्मानीय श्रीमती वसुंधरा राजे जी के नेतृत्व में मनचाही फीस पर अंकुश लगाने के लिये एक बडा कदम उठाया गया है। इसके लिये मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे जी को धन्यवाद एवं आभार ज्ञापित करते हैं।                                                                                                            भवदीय                                                                    अरविन्द सिसोदिया, भाजपा जिला महामंत्री ,                                                                                           कोटा शहर जिला  9414180151                                                              

परिणामदायी मुख्यमंत्री माननीय श्रीमती वसुंधरा राजेजी : अरविन्द सिसोेदिया

इमेज
परिणामदायी मुख्यमंत्री माननीय श्रीमती वसुंधरा राजे जी : अरविन्द सिसोेदिया जो लोग बिना जानें समझे सरकार की आलोचना करते हें, यह उन्हे यह जबाव है कि श्रीमती वसुंधरा राजे जी के नेतृत्व में भाजपा की राजस्थान सरकार ने अपनी लगभग 80 प्रतिशत चुनावी घोषणाओं को पूरा कर लिया है। इससे पहले कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार थी, जो साड़े तीन साल तक पैसा नहीं है का रोना रोती रही और जब उन्हे सर्वे में पता चल गया कि जनता उनसे खिलाफ हो गई है और कांग्रेस सरकार जा रही है, तो सरकार बचानें के लिये न केबल सरकारी खजानें को लुटाया गया  बल्कि बिना इंतजाम के तमाम वोट ठगनी रेबडियां बांटीं गई,प्रदेश को भारी भरकम कर्जों में लाद दिया ताकि आनें वाली सरकार परेशान हो। जनता कांग्रेस की करतूतों को बारीक से देख रही थी और उसने कांग्रेस को इतिहास के सबसे बुरे परिणाम की स्थिती में लाकर दण्डित किया, वहीं भाजपा को 163 सीटों पर जिता कर नया ऐतिहासिक कीर्तिमान स्थापित किया। भाजपा की मुख्यमंत्री माननीया श्रीमती वसुंधरा राजे जी ने अपने कुशल वित्तीय प्रबंधन से सबसे पहले राजस्थान को बीमारू ओर गतिहीन प्रदेश की स्थिती से बाहर लाईं और टाइम