पोस्ट

मई 7, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अभी लादेन जिन्दा है

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया          सम्पूर्ण विश्व को इस्लाम के अधीन लाने का स्वप्न देखने वाला क्रूरतम हत्यारा ओसामा बिन लादेन अमरीकी कार्यवाही में मारा गया | अपराध को दंड के माध्यम से रोकनें की व्यवस्था है सो यह हुआ | मगर सच यह भी है कि ओसामा बिन लादेन अभी नहीं मारा गया ! क्योंकि वह मानसिकता ,वह विचारधारा या वह मजहवी कट्टरपन तो जिन्दा है ; जो ओसामा बिन लादेन बनाता है ! अपराधी को खत्म करना और अपराधी बनानें कि फैक्ट्री को ख़त्म करनें में फर्क है ! एक डाकू जब मारा जाता था तो गिरोह का दूसरा उसकी पाग बांध लेता था , वह बुरा काम जो रुकना चाहिए वह तो अवाध चलता रहता है ! यानि कि अमरीकी कार्यवाही में एक अपराधी ओसामा मारा गया , मगर वह बातें या वे कारण जो ओसामा निर्माता हैं , में समझता हूँ वे जिन्दा हैं और उन पर भी सार्वजानिक चर्चा होनी चाहिए !           वह मानसिकता ,वह विचारधारा या वह मजहवी कट्टरपन चिन्हित होना चाहिए जिसमें मानवता का वध किया जाता  हो ! समाज में व्यवस्थाओं का सुधार एक निरंतर प्रक्रिया है | समय समय पर कुछ कारण बनाते हें जिनके कारण अस्थाई परिस्थिति में अपनाई गई विधि या परम्परा दूरगामी दो