पोस्ट

फ़रवरी 1, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नरेंद्र मोदी : गुजरात हाई कोर्ट ने दी राहत

इमेज
स्वेच्छिक संगठनों के नाम पर देश की व्यवस्था के ऊपर अपने आपको NGO   थोपते रहते हैं ... जरुरत है इन ,एन जी ओ के पीछे कौन है यह सामने आये ....!!!!! विदेशी पैसों से चलने वाले बहुतायत एन जी ओ देश के हर अच्छे काम में रोड़ा खड़ा करते हैं ...येशी ही कोशिस इस मामले को उच्च न्यायालय में ले जानें वालों ने की थी ..... ============================================ नरेंद्र मोदी को गुजरात हाई कोर्ट ने दी राहत Source: bhaskar network   |   Last Updated 20:35(01/02/12) http://news.google.co.in/news/story अहमदाबाद।गुजरात हाई कोर्ट ने बुधवार को नरेंद्र मोदी को नानावटी आयोग के सामने पेश करने के लिए दायर याचिका खारिज कर दी है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को गोधरा जांच आयोग में तलब किए जाने की मांग की गई थी। न्यायाधीश अकील कुरैशी एवं सोनियाबहन गोकाणी की पीठ ने इस मामले पर यह फैसला सुनाया है। क्या है मामला: नानावटी आयोग के समक्ष मुख्यमंत्री के कूट परीक्षण की मांग के साथ स्वैच्छिक संगठन जनसंघर्ष मंच ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। आवेदक की दलील थी कि दंगों के सिलसिले में वह अभी तक आयोग

बढई का बेटा सैम पित्रौदा : कांग्रेसियों तुमने कभी अपने पूर्वजों की जात बिरादरी क्यों नहीं बताई.....

इमेज
वोट.......वोट.......वोट......... वोट की खातिर सैम पित्रोदा अपनी जात बताते फिर रहे हैं, उनकी जात को कांग्रेस के विफल युवराज राहुलजी भी बताते नहीं थकते...वाह कांग्रेसियों तुमने कभी अपने पूर्वजों की जात बिरादरी क्यों नहीं बताई.....उसे भी तो याद करो............!!!! ....इंदिरा गांधी , फिरोज गांधी , राजीव गांधी , सोनिया गांधी , राहुल गांधी.... आदि की भी जाती बता दे ते तो अच्छा होता ...... तेजस्वी सम्मान खोजते नहीं गौत्र बतला कर। पाते हैं,जग से प्रशस्ति अपना करतब दिखला के ।। - राष्ट्रकवि रामधारीसिंह दिनकर ----------------------------- बढई का बेटा होने पर गर्व: सैम पित्रौदा Tuesday, January 31, 2012   http://zeenews.india.com लखनऊ : उत्तर प्रदेश में हाल ही में एक चुनावी जनसभा में कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी द्वारा उन्हें ‘बढई का बेटा’ बताए जाने संबंधी टिप्पणी के संदर्भ में ज्ञान आयोग के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने मंगलवार ३१ -०१- २०१२  को यहां कहा कि उन्हें अपनी पहचान पर गर्व है।  पित्रोदा ने कहा, मैं एक बढई का बेटा हूं और मुझे इसका गर्व है। राहुल गांधी ने चुनावी जनसभा में जो कहा वह तथ

हिन्दुस्त्व इस देश कि राष्ट्रीय संस्कृति है - परम पूजनीय सर संघचालक मोहन जी भागवत

इमेज
स्वंय के लिए नहीं समाज राष्ट्र के लिए कार्य करने का आव्हान स्वयं को जाने अपनी शक्ति को पहचाने समाज में जाग्रति आना आवश्यक केवल में और मेरा परिवार इस स्वार्थ से बाहर निकाल कर देश के लिए जीने मरने वाला कार्यकर्त्ता बनो भारत में सक्रांति कि प्रतीक्षा है एक अहिंसक क्रांति कि आवश्यकता है संघ नाम के लिए नहीं देश के लिए कार्य करता है  मातृशक्ति को राष्ट्रीय सेविका समिति से जुड़ने का आव्हान भारतवर्ष को विश्वगुरु बनना है  - परम पूजनीय सर संघचालक मोहन जी भागवत  बीकानेर २२ जनवरी २०१२। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ बीकानेर द्वारा सक्रांति- महोत्सव परा पूजनीय सर संघचालक मोहन जी भागवत के सानिध्य में रेलवे स्टेडियम में हर्षोउल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। मुख्य कार्यक्रम के पूर्व विविध धारा पथ संचलन का आयोजन किया गया, जिसका शहर के लोगो ने बड़े ही उत्साह से विभिन्न स्थानों पर पुष्पवर्षा कर स्वागत किया। द्विधारा संचलन राजरतन बिहारी पार्क में १२.५८ पर प्रारंभ होकर ठीक १.०६ मिनिट पर लव पथक तथा कुश पथक दो धाराओ में परिवर्तित होकर मुख्य मार्गो से गुजरता हुआ तोलियासर भेरूजी पर बाल संगम में परिवर्तित हुआ। यह दृश्य