पोस्ट

मई 27, 2014 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मोदी सरकार का पहला बड़ा फैसला, रि‍टेल में एफडीआई नहीं

इमेज
मोदी सरकार का पहला बड़ा फैसला, रि‍टेल में एफडीआई से इनकार dainikbhaskar.com|May 27, 2014, http://business.bhaskar.com नई दि‍ल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टीम की ओर से पहले दि‍न पहला सबसे बड़ा फैसला सामने आया है। नई वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि अभी मल्टी-ब्रांड रिटेल में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) को आने का सही वक्त नहीं है। अगर मल्टी-ब्रांड रिटेल में एफडीआई लाया जाता है तो किसानों को नुकसान होगा। मोदी के मंत्रि‍यों ने यह मान कि‍या है कि‍ देश की अर्थव्‍यवस्‍था मुश्‍कि‍ल वक्‍त में हैं, ऐसे में कमान संभालना आसान नहीं होगा। आइये हम आपको बताते हैं कि‍ मोदी सरकार की इस कैबि‍नेट ने जनता से क्‍या कहा। वि‍त्‍त मंत्री – अरुण जेटली वित्त मंत्री अरुण जेटली ने महंगाई कम करने का वादा किया है। अपना पदभार ग्रहण करने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था मुश्किल दौर से गुजर रही है। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था के सामने चुनौतियां स्पष्ट हैं। विकास को फिर से पटरी पर लाने, महंगाई को रोकने और राजकोषीय मजबूती पर जोर होगा। अरुण जेटली ने कहा कि उन

नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल, मंत्रियों की सूची और उनके विभाग

इमेज
नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल,  मंत्रियों की सूची और उनके विभाग ज़ी मीडिया ब्‍यूरो/बिमल कुमार http://zeenews.india.com नई दिल्‍ली : देश के 15वें प्रधानमंत्री बने नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में शामिल मंत्रियों के विभागों का आधिकारिक ऐलान मंगलवार सुबह कर दिया गया। गौर हो कि मोदी मंत्रिमंडल में राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, सुषमा स्‍वराज, नितिन गडकरी, एम वेंकैया नायडू, शिवसेना के अनंत गीते समेत 45 मंत्री शामिल किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सोमवार को शपथ ग्रहण करने वाले मंत्रियों के विभागों का बंटवारा मंगलवार को कर दिया गया है। मंत्रियों की सूची इस प्रकार है : प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी): कार्मिक, लोक शिकायत व पेंशन, आणविक ऊर्जा विभाग, अंतरिक्ष विभाग। अन्य महत्वपूर्ण नीतिगत विभागों तथा मंत्रालयों का बंटवारा किसी मंत्री को फिलहाल नहीं किया गया है। मंत्रियों के नाम और उनके विभाग कैबिनेट मंत्री: राजनाथ सिंह : गृह मंत्रालय सुषमा स्वराज : विदेश मंत्रालय, प्रवासी भारतीय मामलों का मंत्रालय अरुण जेटली : वित्त, कॉरपोरेट मामला, रक्षा मंत्रालय एम वेंकैया नायडू : शहरी व

यूटर्न : केजरीवाल बॉन्ड भरने को तैयार

इमेज
 केजरीवाल की जेल यात्रा प्रकरण ने साबित कर दिया की  उनकी समझ दिमागी दिवालियेपन  की स्थिति में है । एक  तरफ अपने आप को आम आदमी की पार्टी कहते हैं , बनाते संविधान के ऊपर हैं ।  हाई कोर्ट से भी केजरीवाल को झटका  अरविंद केजरीवाल बॉन्ड भरने को तैयार एजेंसियां | May 27, 2014 नई दिल्ली http://navbharattimes.indiatimes.com दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल को दिल्ली हाई कोर्ट से कोई राहत नहीं मिली। केजरीवाल की अर्जी पर दिल्ली हाई कोर्ट में मंगलवार को सुनवाई करते हुए कहा कि उन्हें पर्सनल बॉन्ड भरना ही होगा। इसके बाद अरविंद केजरीवाल इस फैसले को मानते हुए पर्सनल बॉन्ड भरने के लिए तैयार हो गए हैं। उनके वकील प्रशांत भूषण ने हाई कोर्ट को जानकारी दी है कि अरविंद केजरीवाल बॉन्ड भरने के लिए तैयार हैं। प्रशांत भूषण ने साथ ही यह भी बताया कि बॉन्ड भरना एक फिजूल की प्रक्रिया है, जिसकी वजह से लाखों लोग जेलों में बंद रहते हैं और अदालतों का भी वक्त बर्बाद होता है, इसलिए हाई कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई के लिए हामी भर दी है। उन्होंने कहा, 'अरविंद

नरेंद्र मोदी राष्ट्राध्यक्ष के रूप में ए-1 वीजा के पात्र होंगे - अमेरिका

इमेज
ओबामा ने दी मोदी सरकार को बधाई, नई सरकार के साथ काम करने को लेकर उत्सुक Bhasha मई 26, 2014 http://khabar.ndtv.com/news वॉशिंगटन: भारत के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी के शपथ लेने पर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बधाई देते हुए कहा है कि रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के लिए वह नए नेता के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे कार्नी ने कहा, 'राष्ट्रपति ओबामा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नई भारतीय सरकार को उनके शपथ-ग्रहण पर बधाई देते हैं।' कार्नी ने कहा, 'चुनाव के बाद अपनी बातचीत में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री जिस तरह सहमत हुए थे, दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्रों के रूप में भारत और अमेरिका गहरे रिश्ते और अपने लोगों तथा दुनिया भर के लिए आर्थिक अवसर, स्वतंत्रता एवं सुरक्षा को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता साझा करते हैं।' प्रेस सचिव ने एक बयान में कहा, 'हम नई सरकार के साथ करीबी से काम करने को लेकर उत्सुक हैं ताकि आने वाले सालों में अमेरिका-भारत रणनीतिक नेतृत्व को मजबूत किया जा सके और उनका प्रसार किया जा सके।

मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्सिमम गवर्नेस - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

इमेज
मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्सिमम गवर्नेस।' बदल दी सरकार की परिभाषा, संगठन की परंपरा Tuesday,May 27,2014 त्वरित टिप्पणी/प्रशांत मिश्र http://www.jagran.com/news भाजपा में एक नए युग की शुरुआत के साथ ही सरकार और पार्टी की प्रकृति और परंपरा भी बदलने लगी है। यह तय हो गया है कि अब न तो सरकार पुराने ढर्रे पर चलेगी और न ही पार्टी। दोनों एक दिशा में एक साथ बढ़ेंगे और संभवत: भाषा भी एक ही होगी। पिछले कुछ महीनों में जज्बे को जुनून बनाकर ऐतिहासिक जनादेश लाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शपथग्रहण के साथ ही भाजपा और जनसंघ की तीन पीढि़यों की आस और परिश्रम को पूरा कर दिया। खास बात यह थी कि जब भाजपा और बहुत हद तक कांग्रेस ने भी व्यवहार और सिद्धांत में गठबंधन की सरकार को सच मान लिया था, मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने यह दिखा दिया जनता बहुमत की पार्टी वाली सरकार चाहती है। बशर्ते उसे पार्टी और नेतृत्व पर भरोसा हो। इसके साथ कई समीकरण बदल गए हैं। बदलाव पिछले चार-पांच दिनों में ही दिख गया है। पार्टी और सरकार को भी यह स्पष्ट हो गया कि मोदी 'नो नान्सेंस और जीरो टालरेंस' के सिद्धांत पर