पोस्ट

मई 29, 2010 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नक्सलवाद - य़ूपीए की मनमोहन सरकार त्यागपत्र दे

इमेज
मनमोहन सिंह जी य़ू भी कमजोर और छाया प्रधान मंत्री ही कहलाते हें .अब यह बात और ज्यादा प्रमाणित हो रही हे . की वे नाकाबिल हें उनमें कोई क्षमता नही हे , हर मामला इसका गवाह हे .   नक्सलवाद के उग्र तेवरों ने एक बार फिर, अपने निर्मम तेवर दिखाते ही  ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस को उड़ा दिया ,६५ यात्री मरे और २५० से ज्यादा घायल हुए यह संख्या और ज्यादा  हो जाएगी . सवाल यही हे की गत एक माह में , नक्सलियों ने एक के वाद एक चुनोती दी और केंद्र सरकार असाह हे , कारण  की वे बहुत मजबूत हो चुके हें , वे यह भी जानते हें की गुडों की गुलामी आप की  विशेसता हे , राजीव के हत्यारों के साथ आप सरकार चला रहे हें , जिस  करुणानिधि को आप ने राजीव हत्या के लिए तमिलनाडू  सरकार से बर्खास्त किया था और उसके साथ मिल कर चल  रही गुजराल की सरकार को गिराया था , अब आप उसके साथ सरकार चला रहे हें ,कांग्रेस के लिए राजीव से बड़ी केंद्र सरकार हे , यह तो साबित होही गया हे ,  चन्द्र बाबु नायडू की आंध्र प्रदेश सरकार के खिलाफ  आप ने इनसे ही हाथ मिलाया था , वे आप की नस नस जानते हें , वे आप से नही डरते , आप उनका कुछ भी नही बिगाड सकते , इसलि