पोस्ट

मई 14, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

महंगाई डायन खाए जात है

चित्र
  कांग्रेस  कितनी  खुदगर्ज पार्टी है .., पांच राज्यों के चुनाव में वोट लेने से पहले चुप रही और जैसे ही वोट झटके और अपनी लूट की आदत पर फिर आगई ..!  आज पेट्रोल के दम बड़ा दिए .. आगे पीछे डीजल और रसोई गैस के दाम भी बढायेंगे ..! जनता को इस ठग पार्टी के सच को पहचानना होगा ..! फिर वह गीत .... महंगाई डायन खाए जात है, याद आगया ...... - अरविन्द सिसोदिया  यह गीत आमिर खान द्वारा निर्मित और अनुषा रिज़वी द्वारा निर्देशित फिल्म "पीपली लाइव" में शामिल किया गया है। मध्य प्रदेश के निवासी श्री गयाप्रसाद प्रजापति ने दावा किया है कि उन्होने इस लोकगीत की रचना की है। अभिनेता श्री रघुवीर यादव ने इस कोरस गीत में मुख्य गायक के तौर पर योगदान दिया है और पर्दे पर वे ही इसे गाते हैं। आमिर खान के मुताबिक, रघुवीर यादवने इस लोक गीत में फिल्म की जरुरत के हिसाब से वहीं शूटिंग स्थल पर ही बदलाव किये और इसे फिल्म में उपयोग करने लायक बनाया। सखी सैयां तो खूब ही कमात हैं महंगाई डायन खाए जात है हर महीना उछले पेट्रोल डीजल का - उछ्ला है रोल/ (भी बढ़ गया मोल) शक्कर बाई के का हैं बोल हर महीना उछले पेट्रोल डीजल का -

भैरों सिंह - भैरों सिंह ; राजस्थान का एक ही सिंह

चित्र
  राष्ट्रपति महोदया श्रीमती प्रतिभा देवी पाटिल के साथ    तत्कालीन राष्ट्रपति महामहिम कलम साहब , प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह और लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी के साथ ...... भैरों सिंह शेखावत : यह शख्सियत राजनीती का दर्शन शास्त्र  थी..! १५ मई उनकी प्रथम  पुन्य तिथि है  , कोटि कोटि नमन ..!! शेखावत: एक जीवन परिचय http://arvindsisodiakota.blogspot.in/2010/05/blog-post_16.html भैरों सिंह शेखावत: सांस्कृतिक मूल्यों के संवाहक http://arvindsisodiakota.blogspot.in/2011/05/blog-post_09.html भैरों सिंह शेखावत: शेर ए राजस्थान http://arvindsisodiakota.blogspot.in/2011/05/blog-post_1669.html भैंरोसिंह - भैंरोसिंह , राजस्थान का एक ही सिंह  http://arvindsisodiakota.blogspot.in/2011/05/blog-post_4357.html महाराणा प्रताप http://arvindsisodiakota.blogspot.in/2012/05/blog-post_10.html

भैरों सिंह शेखावत : शेर - ए - राजस्थान

चित्र
भैरों सिंह शेखावत : शेर - ए - राजस्थान   http://www.visfot.com/index.php/real_hero/3454.html = रामबहादुर राय - यह १५ मई २०१० को लिखा गया लेख है ..........  भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति और देश के एक कद्दावर राजनेता भैरो सिंह शेखावत नहीं रहे.   87 साल के भैरोसिंह शेखावत ने लगभग छह दशक तक भारतीय राजनीति में अपना सशक्त हस्ताक्षर बनाये रखा. आज उनके जाने के बाद उन्हें याद करें तो हम उन्हें ऐसे राजनेता के रूप में पाते हैं जिन्होंने सार्वजनिक जीवन में आदर्श और व्यवहार का बहुत ही बेहतर समन्वय किया और लोक राजनीति का मार्ग प्रशस्त किया. भैरो सिंह शेखावत उन चंद नेताओं में से एक रहे हैं जो अपनी विचारधारा से बिना समझौता किये हुए निजी संबंधों को बनाये रखने में माहिर थे. उनके संबंध हर दल के नेताओं में थे और वे संबंध केवल औपचारिक नहीं बल्कि गहरे रिश्ते थे. इसकी कई बार परीक्षा भी हुई. 1993 में राजस्थान विधानसभा में दोबारा चुनाव हुआ तो मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश इन जगहों पर भाजपा की सरकार वापस नहीं आयी. लेकिन राजस्थान में भैरो सिंह शेखावत के नेतृत्व में भाजपा सबसे बड़ी

भावी सत्ता परिवर्तन की आहट के संकेत .....

- अरविन्द सिसोदिया         कुल मिला कर अभी तक जो सत्ता में वापसी का ट्रेंड था वह बदल गया है , अब सत्ता परिवर्तन का ट्रेंड फिरसे आगया है , कांग्रेस को अभी तो ख़ुशी हो रही होगी मगर यही उन्हें आगे चल कर सत्ता से बाहर करने वाला  है |  इन चुनाव में भाजपा को खोनें को कुछ  नहीं था ..,  वामपंथी हार गए मगर अगली वापसी से उन्हें भी कोई नहीं रोक पायेगा ! अब खतरा कांग्रेस को बड़ा है | उप चुनाव ही कांग्रेस के फेवर के नहीं हैं एक भी सीट उन्हें नहीं मिली |         हाल ही में हुए ५ राज्यों के चुनाव और ५ राज्यों में हुए उप चुनाव के परिणाम ..भावी सत्ता परिवर्तन की आहट लेकर आये हैं ..! पांच राज्यों में से ४ राज्यों में सत्ता परिवर्तन हो गया है ! बंगाल  में ३४ साल से जमें वाम पंथी एतिहासिक हार को प्राप्त हुए हैं .., मगर इसमें कांग्रेस की जीत नहीं है , यह जीत ममता के संघर्ष की जीत है , अन्यथा कुछ साल पहले तक कांग्रेस तो वाम पंथियों के सहारे सरकार चला रही थी ..!! सोनिया जी और सोमनाथजी की गुड्डी गुड्डी किसनें नहीं देखी..! केरल में सत्ता परिवर्तन एक परंपरा है , सत्ता में आनें की बारी कांग्रेस गठ बंधन की ही थ