संदेश

अप्रैल 7, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

संघ के माननीय विभाग संघचालक श्री तैलंग जी ने हजारों को राष्ट्रसेवा के लिए प्रेरित किया

चित्र
पुण्य स्मरण - श्री तैलंग ने हजारों को राष्ट्रसेवा के लिए प्रेरित किया - अरविन्द सिसोदिया    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग संघचालक माननीय प्रभाषचन्द्र तैलंग की पुण्यतिथि पर पुण्य स्मरण - “ दादा के नाम से सब दूर लोकप्रिय , हमारे प्रेरणा स्त्रोत स्व0 प्रभाषचन्द्र जी तेलंग 7 अप्रेल 2015 को हम सभी के बीच से देवलोक गमन कर गये थे। उनकी पुण्य स्मृति हमें सहज ही शोकमग्न कर देती है। उनके जैसा स्वभाव, सहजता और सृदृड़ता की कोई शानी नहीं है। उनके आसपास भी किसी को हम नहीं पाते है। सहज ही आंखें भर आती हैं। भारतमाता इस महान सपूत को गोधरा नृशंस हत्याकाण्ड के दिन बहुत ही व्यथित अवस्था में मेनें देखा है।  हिन्दू समाज की कमजोरियों को दूर करनें और उसे स्वाभिमान से भरने की दिशा में दादा ने विराट काम किया है। हजारों स्वयंसेवक और समाज बन्धुओं को भारतमाता की सेवा हेतु प्रेरित किया। उन जैसा कोई लाखों करोडों में एकाध ही होता है। मन यही कहता है कि दादा देव लोक में बैठनें वाले नहीं हैं, वे किसी न किसी अन्य स्वरूप में भारत माता की सेवा में फिर से जुटे हुये होंगे । ‘‘श्री तैलंग जी  ने पूरा जीवन भारतमाता की सेवा मे