पोस्ट

अप्रैल 17, 2015 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

भूमि अधिग्रहण विधेयक खुली बहस को तैयार: नितिन गडकरी

इमेज
भूमि  अधिग्रहण  विधेयक  पर किसी भी मंच पर खुली बहस को तैयार: नितिन गडकरी भूमि अध्ािग्रहण विध्ोयक खेतों, खलिहानों मंे काम करने वालों और किसानों को समृह् बनानेवाला कानून है, इसलिए गांवों में विकास के लिए इस विध्ोयक का साथ देने को लेकर 19 मार्च को केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं को पत्र लिखा। प्रस्तुत है पूरा पाठ: बदलावों को करते हुए हमने मुआवजे और पुनर्वास से कोई समझौता नहीं किया है। जिन विषयों को हमने इस सूची में शामिल किया है, उसमें से एक भी किसानों के विरोध में नहीं है, बल्कि यह विषय उन्हें समृ(िशाली बनाने वाले हैं। इंडस्ट्रियल कोरीडोर दिल्ली या फिर किसी महानगर में नहीं बनेगा। यह ग्रामीण इलाकों से होकर गुजरेगा। इसके तहत अगर ग्रामीण इलाकों में उद्योग लगते हैं तो इसका सीधा फायदा किसानों को होगा। बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा। प्रध्ाानमंत्री श्री नरेनर््ी मोदी की सरकार ने ग्रामीण विकास और किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए वर्तमान भूमि अध्ािग्रहण कानून में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। लेकि

भाजपा के 35 वर्ष : 2 से 282 तक की यात्रा...

इमेज
                                         भाजपा स्थापना दिवस 6 अप्रैल पर विशेष                              भाजपा के 35 वर्ष : 2 से 282 तक की यात्रा... जनसंघ के बाद भाजपा गठन को 6 अप्रैल 2015 को 35 वर्ष हो जाएंगे। 2 से चले थे और आज लोकसभा में 282 तक पहुंचे हैं। भाजपा का यह राजनीतिक सफर संगठन की जीवंतता का एक अनुपम उदाहरण है। यह अवसर है उन अनाम कार्यकर्ताओं को प्रणाम करने का, जो बिना लाग-लपेट, बिना लोभ-लालच के, अहर्निश बिना कहे, संगठन के काम में लगे रहते हैं। भारतीय राजनीति में भाजपा ही एक ऐसा दल है जिसे सामाजिक और आध्यात्मिक राजनैतिक दल कहा जा सकता है। दर्शनहीन राजनीतिक दलों के बीच दर्शन से पूर्ण एक दल है, जिसका नाम भारतीय जनता पार्टी है। दोहरी सदस्यता के नाम पर जनता पार्टी के तत्कालीन अध्यक्ष चन्द्रशेखर ने जनसंघ को जनता पार्टी से अलग कर दिया। अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, डाॅ. मुरली मनोहर जोशी, सुंदर सिंह भंडारी, कुशाभा≈ ठाकरे, जगन्नाथ राव जोशी, राजमाता विजयाराजे सिंध्ािया, भैरो सिंह शेखावत, जना कृष्णमूर्ति, के.एल. शर्मा, यज्ञदत्त शर्मा, जे.पी. माथुर