पोस्ट

दिसंबर 10, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

5 Assembly's Elections December 2013 Results

Election Commission of India Assembly Elections December 2013 Results Mirror  Sites:   eciresults.nic.in   &   eciresults.ap.nic.in Partywise Results Chhattisgarh Result Status Status Known For  90  out of  90  Constituencies Party Won Leading Total Bahujan Samaj Party 1 0 1 Bharatiya Janata Party 49 0 49 Indian National Congress 39 0 39 Independent 1 0 1 NCT of Delhi Result Status Status Known For  70  out of  70  Constituencies Party Won Leading Total Bharatiya Janata Party 31 0 31 Indian National Congress 8 0 8 Janata Dal (United) 1 0 1 Shiromani Akali Dal 1 0 1 Aam Aadmi Party 28 0 28 Independent 1 0 1 Madhya Pradesh Result Status Status Known For  230  out of  230  Constituencies Party Won Leading Total Bahujan Samaj Party 4 0 4 Bharatiya Janata Party 165 0 165 Indian National Congress 58 0 58 Independent 3 0 3 *Rajasthan Result Status Status Known For  199  out of  200  Constituencies Party Won Leading Tota

मणिशंकर अय्यर : कोंग्रेस की हार की घोषणा

इमेज
मणिशंकर अय्यर कांग्रेस  के मानसिक रूप से  भाजपा विरोधी नेता हें , उन्हें अपनी  बुद्धि पर अभिमान हे और हमें उनकी बुद्धि पर तरस आता हे.... मगर उन्होंने अगले  आम चुनाव 2014 में कोंग्रेस की हार की घोषणा  कर सच कह दिया है , हालांकी उससे आगे कि सारी बातें उनकी मनगढ़ंत बकबास हे जो वे अक्सर करते रहते हैं । ----------------------------- 2014 में हार सकती है कांग्रेस : मणिशंकर अय्यर Umashankar Singh : दिसम्बर 10, 2013 NDTV खबर नई दिल्ली: कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि 2014 में कांग्रेस पार्टी की हार मुमकिन है, लेकिन उन्होंने दावा किया कि जल्द ही देश में दोबारा आम चुनाव कराने पड़ेंगे, क्योंकि कोई भी पार्टी पूरे पांच साल सरकार चला ही नहीं सकती। चार राज्यों के विधानसभा चुनावों में मिली करारी हार के संदर्भ में पूछे गए सवाल पर मणिशंकर अय्यर का जवाब था, "कांग्रेस पार्टी ने खुद को पंचायतों से दूर कर लिया, इसलिए आधार खो दिया है, और यह उसी का नतीजा है..." उनका कहना था, हम 2014 में विपक्ष में बैठेंगे, यह तय है, लेकिन फिर जल्द ही सत्ता में आ जाएंगे। उन्होंने कहा कि एनडीए की प

छतीसगढ़ में तीसरी बार भाजपा की सरकार

इमेज
ये है रमन का तीन तिगाड़ा bhaskar news   |  Dec 09, 2013, रायपुर. छतीसगढ़ में तीसरी बार भाजपा की सरकार बनेगी। छह साल पहले डा. रमन सिंह ने हांडी में जो सस्ता चावल पकाने के लिए छोड़ा था, असल में वो अब जाकर पका है। रमन के चेहरे, सस्ते चावल और धान के बोनस के दम पर भारतीय जनता पार्टी ने जीत हासिल की। 90 सीटों वाली विधानसभा में भाजपा के 49 (पिछली बार 50) विधायक जीतकर पहुंचे हैं। कांग्रेस 39 (पिछली बार 38) विधायकों पर ही सिमट गई। हमेशा की तरह इस बार भी कई चौंकाने वाले परिणाम सामने आए। नेता प्रतिपक्ष रविंद्र चौबे और रमन मंत्रिमंडल के पांच मंत्री हार गए। विधानसभा अध्यक्ष खुद चुनाव हार गए। पहली बार नोटा का इस्तेमाल छत्तीसगढ़ में हुआ। कुल 1.30  करोड़ वोट पड़े, जिसमें 4 लाख (3.08%) से ज्यादा लोगों ने नोटा पर बटन दबाया। मतगणना शुरू होने के बाद से चले उतार-चढ़ाव के बाद आखिरकार भाजपा ने बहुमत के आंकड़े को पार कर लिया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के पांच मंत्री चंद्रशेखर साहू, ननकीराम कंवर, हेमचंद यादव, लता उसेंडी व रामविचार नेताम हार गए। लेकिन चुनाव परिणाम से ऐसा लग रहा है कि शहरी और ग्रामीण

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2013 : जीते हुए प्रत्याशियों की सूची

इमेज
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव Results 2013: जीते हुए प्रत्याशियों की लिस्ट  http://www.samaylive.com 230 सदस्यीय मध्य प्रदेश विधानसभा के लिए वोटों की गिनती का काम रविवार को पूरा हो गया, देखिए किस सीट से कौन से उम्मीदवार ने जीत हासिल की है. मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की लगातार तीसरी बार की जीत पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अब अगला लक्ष्य लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत का रहेगा. लगातार तीसरी बार सत्ता हासिल करने के बाद चौहान ने रविवार को संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि वे प्रदेश में जनता के कल्याण प्रदेश की प्रगति और विकास के लिये कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे. गौरतलब है कि मध्य प्रदेश विधानसभा के लिए 25 नबंवर को वोट डाले गए थे. मध्‍य प्रदेश में शान से जीते शिवराज, बीजेपी की हैट्रिक आज तक वेब ब्‍यूरो [Edited by: बबिता पंत] | भोपाल, 8 दिसम्बर 2013 मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के तहत मतगणना में सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अब तक घोषित नतीजों और बढ़त के आधार पर लगातार तीसरी जीत दर्ज करने की तैयारी में है. बीजेपी जहां 96 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी ह

राजस्थान विधानसभा चुनाव परिणाम 2013: जीते हुए प्रत्याशियों की सूची

इमेज
राजस्थान विधानसभा चुनाव परिणाम 2013: जीते हुए प्रत्याशियों की लिस्ट http://www.samaylive.com राजस्थान विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने 199 सीटों में से 162 सीटों पर कब्जा कर ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए कांगेस को करारी शिकस्त दी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांगेस की भारी हार के बाद राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. वहीं राजस्थान प्रदेश कांगेस अध्यक्ष डा चन्द्रभान ने हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से त्यागपत्र भेज दिया है. वह मंडावा सीट पर अपनी जमानत भी नहीं बचा सके और चौथे पायदान पर रहे. वसुंधरा राजे को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर चुनावी समर में उतरी भाजपा ने 162 सीटों पर ऐतिहासिक जीत दर्ज की है. वहीं कांग्रेस मात्र 21 सीटों पर ही अपनी जीत दर्ज कर पायी. वाम दल इस बार अपना खाता भी नहीं खोल पाये जबकि नेशनल पीपुल्स पार्टी ने चार सीटों पर और क्षेत्रीय पार्टी ने दो स्थानों पर अपनी जीत दर्ज करायी है. सात निर्दलीय उम्मीदवार भी विधानसभा में पहुंचने में कामयाब हो गए हैं.  राजस्थान विधानसभा 2013 के विधानसभा वार जीते हुए प्रत्याशियों की लिस्

वसुंधरा राजे १३ दिसंबर को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ

इमेज
वसुंधरा राजे १३ दिसंबर को लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ राज्यपाल से मिलकर आज पेश करेंगी सरकार गठन का दावा भास्कर न्यूज - जयपुर भाजपा नेता वसुंधरा राजे 13 दिसंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगी। शपथ ग्रहण समारोह अमरूदों का बाग या जनपथ पर आयोजित किया जाएगा। समारोह में पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह और भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री पद के दावेदार नरेंद्र मोदी को भी आमंत्रित किया गया है। वसुंधरा राजे मंगलवार सुबह सवा दस बजे राज्यपाल से मिलकर सरकार के गठन का दावा पेश करेंगी। उधर, सोमवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में पार्टी के नव निर्वाचित विधायकों की बैठक हुई। पार्टी के केन्द्रीय संसदीय बोर्ड द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक अरुण जेटली ने विधायक दल के नेता के निर्वाचन की प्रक्रिया संचालित की। जेटली ने शाम 7:20 बजे विधायक दल के नेता के नाम का प्रस्ताव आमंत्रित किया। इस पर गुलाबचंद कटारिया ने वसुंधरा राजे का नाम प्रस्तावित किया। इसका सभी विधायकों ने एक स्वर में समर्थन किया। इसके बाद जेटली ने वसुंधरा राजे को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता निर्वाचित घोषित कर दिया। बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अमित श

उम्मीदें समझिए : विजयसिंह चौहान

इमेज
उम्मीदें समझिए, नहीं तो बन सकता है और बड़ा रिकॉर्ड विजयसिंह चौहान { दैनिक भास्कर के कोटा संस्करण के संपादक } चुनाव परिणाम विश्लेषण http://epaper.bhaskar.com/kota/16/10122013/0/1/ कोटा की सबसे बुजुर्ग दादी सूरजा देवी (११३ वर्ष) ने वोटिंग से एक दिन पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि वे वोट डालने जरूर जाएंगी। अगले दिन हुआ भी यही। ११.३० बजे वे बेटे की गोद में वोट डालने पहुंची। इस बात ने साफ संकेत दे दिया था कि इस बार वोटिंग का जरूर रिकॉर्ड टूटेगा। शाम तक हुआ भी यही। कोटा की जागरूक जनता ने वोटिंग का प्रतिशत १३.२८ अंक बढ़ाकर जिले को राजस्थान में सिरमौर बना दिया। डाकमतों को छोड़ शहर की तीन सीटों पर ७६.१७%वोट पड़े। इनमें से भाजपा को ५३.८५% तो कांग्रेस को ३७.६५% वोट मिले। १६.२०% के इस अंतर ने काग्रेंस को घर बैठा दिया। जिले की शेष ३ सीटों पर भी यही हाल रहा और पार्टी सफाचट हो गई। वह भी तब जब उसके पास दो कद्दावर मंत्री और एक विधायक था। ऐसा वाकया ३६ साल पहले १९७७ में जनता लहर के समय हुआ था। तब कांग्रेस अपना वजूद नहीं बचा पाई थी। वोटिंग का यह प्रतिशत बढऩे की वजह सोनिया व मोदी की सभाएं भी रहीं। मोदी ब