पोस्ट

दिसंबर 16, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

खरगोशों पर होता है अत्याचार : दुनिया का सबसे मुलायम ऊन

इमेज
ऐसे निकालते हैं दुनिया का सबसे मुलायम ऊन, खरगोशों पर होता है अत्याचार http://www.bhaskar.com ब्रिटेन के हाई स्ट्रीट फैशन स्टोर्स ने चीन में बनने वाले अंगोरा वूल उत्पादों पर रोक लगा दी है। यह रोक खरगोशों को निर्दयतापूर्वक यातना देने और उनको खाल नोचने के वीडियो जारी होने के बाद लगाई है। यह वीडियो जानवरों के अधिकारों की लड़ाई लड़ने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था पेटा ने स्टिंग ऑपरेशन के बाद जारी किया। डेली मेल की खबर के मुताबिक, चीनी फर्म अंगोरा वूल में खरगोशों के साथ बड़ी अमानवीयता का व्यवहार किया जाता है। यहां जिंदा और चिल्लाते हुए खरगोशों की मखमली त्वचा को उखाड़ा जाता है। वीडियो में दिखाया गया है कि खरगोश के आगे और पीछे से पैर बांधे गए हैं। उसके बाद उसके शरीर को काटा जाता है। जांचकर्ताओं का मानना है कि जिंदा खरगोशों को कई सालों तक बड़ी ही दयनीय स्थिति में रखा जाता है। पेटा के अंडरकवर एजेंट द्वारा किए गए स्टिंग ऑपरेशन के बाद ब्रिटेन की तकरीबन 35 कंपनियां टॉपशॉप, एचएंडएम, प्रीमार्क, व्हिसल और नेक्स आदि ने अंगोरा वूल प्रॉडक्ट के साथ अपने ऑर्डर रद्द कर दिए हैं। मार्क्‍स एंड स्पेंसर ने कहा

राजस्थान में 199 में से 145 विधायक करोड़पति

राजस्थान में 199 में से 145 विधायक करोड़पति भाजपा के 120 और कांग्रेस के 14 एमएलए के पास एक करोड़ या उससे अधिक संपत्ति भास्कर न्यूज. जयपुर राजस्थान के 145 विधायक करोड़पति हैं। इनमें सत्तारूढ़ भाजपा के 162 में से 120, कांग्रेस के 21 में से 14 एमएलए के पास एक करोड़ या इससे अधिक संपत्ति है। बसपा के दो, नेशनल पीपुल पार्टी व निर्दलीय के चार-चार, एनयूजेडपी (जमींदारा पार्टी) का एक विधायक, करोड़पति एमएलए में शुमार हंै। प्रत्याशियों की ओर से चुनाव आयोग को दिए गए शपथ पत्रों के आधार पर राजस्थान इलेक्शन वाच ने 199 विधायकोंं के वित्तीय व आपराधिक विश्लेषण में यह जानकारी जुटाई। विधायकों की औसत संपत्ति की बात करें तो भाजपा की 4 करोड़ 17 लाख 43 हजार 99 रुपए है, जबकि कांग्रेस की 9 करोड़ 41 लाख 26 हजार 618 रुपए। बसपा विधायकों की औसत संपत्ति दोनों प्रमुख दलों से ज्यादा 12.06 करोड़ है। तमाम विधायकों की कुल औसत संपत्ति 5.81 करोड़ रुपए रही। जो पिछले चुनाव (2.08 करोड़ रुपए) से 3.73 करोड़ रुपए ज्यादा है। इस बार 73 प्रतिशत विधायक करोड़पति हैं, पिछले चुनाव में ऐसे एमएलए की संख्या 46 प्रतिशत ही थी। 35 पर देनदारि