पोस्ट

दिसंबर 30, 2011 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

पैसे के लिए पतन : सन्नी लियोन : टीवी चैनल

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया  २०११ में सबसे बड़ा नैतिक पतन चैनलों का देखनो को मिला , अश्लीलता से भरे हाश्य कार्यक्रम और विज्ञापन सरकार रोकनें में विफल रही .. हद तो तब हो गई जब .., पोर्न फिल्मों में काम करनें वाली एक विदेशी अभिनेत्री को दम तोड़ते सीरियल को बचने के लिए बुला लिया गया ..! पैसे के लिए इससे जयादा  और क्या गिरना होगा..!!! सार्वजानिक प्रदर्शन किसी भी तरह का हो , उसकी एक मर्यादा होनी ही चाहिए ...भारत में इतनी  स्वछंदता की फ़िल्में , चेनलों के हाश्य कार्यक्रम और विज्ञापन  पोर्न   नहीं तो सेमी पोर्न तो हो ही गए ..!     ----------- सन्नी लियोन को लेकर  कलर्स को नोटिस December - 25 - 2011 अदिति टंडन/ट्रिब्यून न्यूज सर्विस नयी दिल्ली, 24 दिसंबर। भारतीय मूल की कनाडाई ‘पोर्न’ कलाकार सन्नी लियोन टीवी शो ‘बिग बॉस’ के ज़रिये अपना पोर्नोग्राफी व्यवसाय को बढ़ावा नहीं दे पायेगी। उसने 21 नवंबर को इस टीवी शो में प्रवेश किया था। इंडियन ब्राडकास्टर्स फाउंडेशन द्वारा स्थापित ब्राडकास्टिंग कंटेंट कंप्लेंट्स कौंसिल ने कल ‘बिग बॉस’ प्रसारित कर रहे कलर्स चैनल को नोटिस जारी किया। कौंसिल का गठन भारतीय

सरकारी लोकपाल बिल : हार भी और भागना भी

- अरविन्द सिसोदिया  सरकारी लोकपाल  बिल , कांग्रेस ही कमान के अभिमानी और अहंकारी कार्य प्रणाली के कारण लोकसभा में संवेधानिक दर्जा नहीं पा सका ,तो राज्यसभा  में हार की कगार पर पहुँच गया और सरकार ने वोटिंग के बजाये सदन को अनिश्चित काल को स्थगित किया गया | यानि हार भी और भागना भी....कोंग्रेस को अब भी सही तरीके से प्रयत्न करने चाहिए | असफलता का ठीकरा दूसरों से सर फोड़ने से कुछ नहीं होगा  ..|  कोंग्रेस को बीजेपी के माथे विफलता का ठीकरा फोड़ने के बजाये अपनी असफलता पर आत्म मंथन करना चाहिए !!! ------------------ मध्य रात्रि का ड्रामा,सबसे बड़ा धोखा: जेटली  Friday, December 30, 2011 ज़ी न्यूज ब्यूरो  नई दिल्ली: बीजेपी नेता अरुण जेटली ने कहा है कि लोकपाल विधेयक पर गुरुवार को मध्य रात्रि में हुआ ड्रामा सबसे बड़ा धोखा था।  जेटली ने लोकपाल बिल के मुद्दे पर कांग्रेस पर जमकर प्रहार किया है। शुक्रवार को नई दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों को संबोधित करते हुए जेटली ने कहा कि गुरुवार को राज्यसभा में वोटिंग से डरकर सरकार आधी रात को मैदान छोड़कर भाग गई।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस की यह र

अब कांग्रेस क्या हुआ....? लोकपाल बिल .???

इमेज
- अरविन्द सिसोदिया  अब कांग्रेस क्या हुआ....? राज्य सभा में वोटिंग से पीछे क्यों हटे ..? भाजपा ने लाकसभा में भी कहा था, यह बिल असंवैधानिक है और राज्यों के अधिकार क्षैत्र मे हस्तक्षेप करता है। -------------------- संशोधन पर सरकार ने मांगा वक्त, बीजेपी बोली-डर गई सरकार Dec 30, 2011   http://khabar.ibnlive.in.com नई दिल्ली। करीब 12 घंटे तक गर्मागर्म बहस के बाद भी लोकपाल बिल राज्यसभा में पास नहीं हो पाया। देर रात करीब 12 बजे संसदीय कार्यमंत्री पवन बंसल ने खडा़ होकर सदन से और वक्त मांगा। उन्होंने तर्क दिया कि सरकार को कुल 187 संसोधन प्रस्ताव मिले हैं। जिसे गहन करने में वक्त लगेगा। जबकि राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली ने कहा कि वो पूरी रात बहस के लिए तैयार हैं लेकिन सरकार तैयार नहीं हुई। विधेयक पर जारी चर्चा और उसके बाद मत विभाजन के बारे में सरकार की तरफ से कोई संतोषजनक जवाब न मिलने पर सदन में हंगामा होने लगा। जिसके बाद सभापति उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी। जेटली ने कहा कि सरकार अल्पमत है इसलिए लोकपाल बिल को टालना चाहती ह